18 जनवरी 2017

"शराब है खराब, नशा से नाता तोड़ो जिंदगी से नाता जोड़ो": संथालों ने निकाली संकल्प रैली



मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड के संथाल बाहुल्य क्षेत्र हरिपुर कला तिनकोनामा में  जीविका कैडर संघ  मुरलीगंज के द्वारा हरिपुर कला तिनकोनामा संथाल टोले में संकल्प रैली निकाली गई.

 संथाल समुदाय के लोगों को शराबबंदी के समर्थन में 21 जनवरी को आयोजित होने वाली विश्वव्यापी मानव श्रृंखला में भाग लेने के लिए लोगों की जागरुकता के लिए जीविका की दीदियो और अन्य जीविका कर्मी के द्वारा पैदल मार्च किया गया और लोगों को 21 जनवरी को आयोजित होने वाले विश्व व्यापी मानव श्रृंखला में भाग लेने की अपील की । हरिपुरकला तिनकोनामा के संथाल टोले में संथाल समुदाय को शराब से मुक्त कराने हेतु लोगों में जागरूकता एवं जन चेतना फैलाने के लिए जीविका दीदियों एवं अन्य कर्मियों के द्वारा 3 किलोमीटर तक पैदल मार्च कर घर आंगन में लोगों से 21 जनवरी की विश्वव्यापी मानव श्रृंखला में भाग लेने और नशा मुक्त क्षेत्र बनाने के लिए लोगों में  जन जागरूकता ला संथाल टोले के संथाल समुदाय के सभी लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और सब ने एक दूसरे के घर में जा जाकर पैदल मार्च में सहभागी एवं 21 जनवरी को आयोजित होने वाली मानव श्रृंखला में भाग लेने का अपील किया । यह  पैदल मार्च अंतिम क्षण में  सभा में परिणित होकर संपन्न हुई । सभा में समाज के कई गणमान्य व्यक्तियों ने सभा में उपस्थित सभी जीविका दीदियों एवं स्थानीय संथाल समुदाय के लोगों को नशा के खिलाफ एकजुट होकर लड़ाई लड़ने के लिए संबोधित किया, साथ ही गीत नाद के माध्यम से भी  लोगों में "शराब है खराब, नशा से नाता तोड़ो जिंदगी से नाता जोड़ो", जैसे नशा के खिलाफ लोगों में जागरूकता फैलाने का काम किया ।

मौके पर जीविका कैडर संघ के  अध्यक्ष निकोलस हेम्ब्रम रेड्डी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा की हमारा संथाल समुदाय बहुत ही पिछड़ा हुआ समुदाय है, यह शराबबंदी से हम लोगों के रहन सहन खान पान में बदलाव आया है और हम लोग चाहते हैं कि सब लोग एकजुट होकर के इस नशा के खिलाफ माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी की  एलान को हम लोग सहभागी होकर इन्हें सफल बनाने 21 जनवरी को आयोजित होने वाली मानव श्रृंखला में ज्यादा से ज्यादा लोग सहभागी हो अध्यक्ष निकोलस हेंब्रम रेड्डी ने जिले के जिलाधिकारी मो सोहेल का आभार प्रकट करते हुए कहा कि जिला अधिकारी की पहल से ही संथाल सुनिश्चित रोजगार योजना को मधेपुरा में ही नहीं पूरे बिहार में लागू किया गया है जिसके तहत हम संथाल परिवारों को किसी भी रोजगार के लिए मात्र 10% ही अपनी लागत देनी पड़ेगी यह एक बहुत ही सराहनीय पहल जिला अधिकारी के द्वारा हम संथाल समुदायों के लिए किया गया है। साथ ही उन्होंने सब से आग्रह किया कि आज हमारा यह संकल्प यात्रा आप लोगों के सहयोग से सफल होगा और हमारा यह संथाल समुदाय क्षेत्र को पूर्ण नशा मुक्त क्षेत्र बने। इसके लिए आप सब अपने अपने स्तर से पूरे जोर-शोर से सहयोग करें और इस क्षेत्र को नशामुक्त बनावे । सभा को संबोधित कर रहे, शराब के कारण संपत्ति नाश होती है। स्वास्थ्य खराब होता है, उन्होंने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जिला अधिकारी मो सोहेल का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि शराबबंदी से सात आठ  महीनों में लोगों का रहन सहन खानपान में बदलाव आया है। कल तक एक मजदूर दिन भर काम करता था और शाम को सारी कमाई शराब में डुबो देता था, और आज उस मजदूर की परिवार की माली हालत भी सुधर रही है और उनका जीवन भी बदल रहा है। जिनके घरों में घर के मुखिया शराबी होने के कारण घर के खर्चे के लाले पड़े रहते थे , आज उनके घरों में रोज हरी हरी सब्जियां बनते हैं और सुखी जीवन जी रहे हैं. उन्होंने यह भी अपील किया कि इस क्षेत्र को ही नही बल्कि पूरे बिहार को सिर्फ शराब मुक्त ही नहीं पूर्ण मध्य निषेध लागू की जाए मौके पर निकोलस हेम्ब्रम रेड्डी अध्यक्ष जीविका कैडर संघ, अखिलेश कुमार सचिव, गणेश राम कोषाध्यक्ष, जगदीश राम समाजसेवी, रविंद्र कुमार यादव, वकील कुमार यादव, अरविंद यादव, रामचंदर राम, सुमन कुमारी ,किरण कुमारी, मीना देवी, ललिता मुरमुर, दीपा रानी, खुशबू मुरमुर, माला कुमारी, आशा देवी, कुमारी मुन्नी, हेमलता मरांडी, विमला देवी ,संतोष कुमार सिंटू, कुमार सहित अन्य सैकड़ो महिलाए एवं पुरुष उपस्थित थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...