03 जनवरी 2017

मिसाल: युवाओं को मात, संगठन बनाकर वरिष्ठ नागरिक कर रहे हैं नि:सहायों की सेवा



जिस उम्र में खुद के सेवा की जरूरत होती है उस उम्र में कई लोग यदि एक साथ मिलकर गरीब और नि:सहायों की सेवा को आगे आए तो यकीन मानिए कहा जा सकता है कि अभी भी समाज में बहुत संवेदना बची हुई है.
मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर स्थित रामजानकी ठाकुरबाडी में वरिष्ठ नागरिक सेवा संगठन के द्वारा प्रखंड के गरीब नि:सहाय बुजुर्गों के बीच कंबल का वितरण किया.
     जानकारी के अनुसार सिंहेश्वर में उम्र से सेवानिवृत्त लोगो ने अपने उम्र के लोगों के दर्द को बांटने के लिए एकत्र हुए और वरिष्ठ नागरिक सेवा संगठन के नाम से संगठन बना कर कई सामाजिक कार्यो में युवाओं को मात देते हुए अग्रणी भूमिका निभाई. जिस उम्र में लोगों को खुद को सेवा करवाने की जरूरत होती है, उस उर्म में बुजुर्गों की सेवा करने का निर्णय लिया ही नही, कई सामाजिक काम भी इनके द्वारा किया गया. इन बुजुर्गों ने दुर्गा पूजा के समय बाजार में साफ-सफाई के लिए झारू लेकर निकल कर युवाओं को शर्मिंदा कर दिया था. आज गरीब और नि:सहाय बुजुर्गों का दर्द समझा और ठंड से बचने के लिए उनके बीच कंबल का वितरण किया. यह कंबल लगभग एक सौ से ज्यादा सिंहेश्वर, गौरीपुर, पटोरी, रूपौली, सुखासन एवं लालपुर सरोपटटी पंचायत के लोगों के बीच वितरित किया गया.
    मौके पर संगठन के अध्यक्ष दुर्गानंद विश्वास, उपाध्यक्ष ललन भगत, महामंत्री भरत चंद भगत, उप सचिव दिनेश झा, कोषाध्यक्ष वासुदेव साह, अध्यक्ष विश्व नशा उन्मूलन गंगा दास ताती,  श्रीप्रसाद टेकरीवाल, सोहन वर्मा, राम दास , जगदीश प्रसाद यादव, अशोक मेहता, राम बहादुर कामत, सीताराम यादव, उदय प्रसाद चौरसिया तथा सलाहकार समिति से रमेशचंद्र भगत मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...