13 जनवरी 2017

सड़क सुरक्षा सप्ताह: दोपहिया वाहन चालकों को बताए गए हेलमेट की उपयोगिता

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज शहर से गुजरने वाली एन एच 107 पर के पी कॉलेज मुरलीगंज के समीप थानाध्यक्ष मुरलीगंज द्वारा सघन रूप से सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत दोपहिया वाहन चालकों को हेलमेट की उपयोगिता बताए गए.

    बिना हेलमेट के चालकों को हेलमेट लाओ गाड़ी ले जाओ के तर्ज पर इस मुहिम में उन्होंने गुरूवार को करीब 17 दोपहिया वाहन चालकों के चालान भी काटे. उनके साथ अंचलाधिकारी जयप्रकाश स्वर्णकार भी मौजूद थे. मुरलीगंज के हेल्पलाइन के सचिव विकास आनंद ने लोगों को बताया कि आप अपने लिए ना सही अपने बच्चों और परिवार के लिए हेलमेट अवश्य पहने. मौके पर उपस्थित बाबा दिनेश मिश्र ने लोगों को हेलमेट की उपयोगिता और इसकी आवश्यकता पर बल दिया और कहा कि यह सिर्फ जीवन की सुरक्षा के दृष्टिकोण से ही नहीं बल्कि साथ ही साथ ठंडी हवाओं के झोंके लू के थपेड़ों तथा आंखों में होने वाले नुकसान से भी हमारी सुरक्षा करता है. बताया कि गत वर्ष पांच लाख लोग सड़क हादसों में घायल हुए. दोपहिया वाहनों से हुए हादसों में अधिकतर मौतें सिर में चोट से हो रही हैं. हेलमेट की उपयोगिता को समझना होगा. जिले कुछ दिनों  फिर दोपहिया वाहन चालक सड़को मे बिना हेलमेट फर्राटेदार गाड़ी चलाते नजर आने लगे हैं. प्रशासन ने हेलमेट की अनिवार्यता कर दी है. जान की सुरक्षा को लेकर दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट लगाना अनिवार्य होता है. बावजूद इसके लोग खतरो से खेलने बाज नही रहे हैं और नतीजन दुर्घटना होने की स्थिति में गंभीर चोट सहित जान भी जा सकती है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...