12 जनवरी 2017

‘प्रधानमंत्री के तर्ज पर नीतीश कुमार लोगों को बहकाने में जुटे’: सांसद पप्पू यादव

मधेपुरा जिले के पुरैनी प्रखंड के मकदमपुर पंचायत स्थित खेल मैदान पर स्थानीय सांसद सह जनअधिकार पार्टी के संरक्षक राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश सरकार के सात निश्चय कार्यक्रम और प्रधानमंत्री के नोटबंदी को आड़े हाथे लिया.

   जमकर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार के द्वारा संचालित कौशल प्रशिक्षण योजना सहित मानव श्रृख्ंला पर बरसते हुए कहा कि राज्य सरकार अपनी पार्टी का प्रचार बिहार के गरीब जनता के पैसे से कर रही है. स्वच्छता अभियान में 3 हजार करोड़ रुपये विज्ञापन में खर्च किये गये लेकिन एक भी घर स्वच्छ नहीं चाहिए. सांसद नें कहा कि जबतक गरीबी नहीं मिटेगी तबतक स्वच्छता नहीं हो सकती. आर्सेनिक युक्त पानी, सबसे ज्यादा कुपोषण बिहार में, सबसे ज्यादा कैंसर,दमा, हैजा कोशी व बिहार में, लेकिन स्वास्थ्य व शिक्षा की बात न कर केन्द्र की सरकार कैशलेस की बात करती है तो राज्य सरकार वाईफाई की. गरीबों की बात व गरीबी मिटाने की बात न तो केन्द्र सरकार कर रही है और न ही राज्य सरकार. 6 हजार 4 सौ गांव में अबतक हाईस्कूल नहीं है बिहार में, और ये विकास की बात करते हैं. इतना ही नहीं शराबबंदी  पर भी जमकर बोले सांसद पप्पू यादव. उन्होनें कहा कि आज भी बिहार में प्रतिदिन शराब की बिक्री हो रही है और माफिया ट्रक के ट्रक शराब बेच रहे हैं. कोशी ने बिहार को मुख्यमंत्री और कई मंत्री दिए हैं. बावजूद इसके विकास की झोली अभी तक खाली है.
     उन्होंने कहा कि नेता चुनाव के समय में सिर्फ कई तरह के वायदे कर वोट बटोर कर जाने के बाद वादे को भूल जाते हैं. बिहार के निचले तबके के लोगों की गरीबी दशकों से बरकरार है, इसके जिम्मेदार आखिर कौन हैं ? पीएम मोदी का नोटबंदी अभियान पूरी तरह फ्लॉप साबित हो रहा है. यह सफल तब होता जब गरीबों का काम अधिकारी बिना घूस लिए ही आए दिन किया करते. यह एक देश स्तर पर तमाशा बनकर रह गया है. उन्होंने नीतीश कुमार से मांग किया कि बिहार के गरीब-मजदूर और किसानों के यदि सच में शुभचिंतक हैं तो अविलंब महाराष्ट्र राज्य के तरह कृषि को उद्योग का दर्जा दें, तभी बिहार का विकास संभव हो सकेगा.
     जनसभा में उपस्थित हजारों लोगों के सामने सांसद श्री यादव ने कहा कि मौका मिला तो बिहार में सत्ता मिलने के बाद मैं शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा को फ्री कर दूंगा. उन्होंने पीएम मोदी को आड़े हाथो लेते हुए कहा कि देश का कालाधन निकालना हो तो सांसद, विधायक, प्रशासनिक अधिकारी आदि की बेनामी संपत्ति की जांच हो तब कालाधन सामने आएगा.
       मौके पर पार्टी के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी जयप्रकाश सिंह, सांसद प्रतिनिधि कापेश्वर सिंह निषाद, प्रदेश महासचिव अखिलेश कुमार यादव, जिप प्रतिनिधि मनोज यादव, मुखिया अनिता देवी, पंसस अमृता देवी,, गौरव राय, राजेश रौशन, हिमांशु कुमार, मो0 समसाद उर्फ राजा, आशुतोष यादव, जवाहर यादव ,सोनू झा, गजेन्द्र राम, मंजय मेहता, रामचन्द्र पंडित, नारायण यादव, अब्बास राही, अख्तर आलम, निरंजन मेहता, विश्वनाथ सहनी, शालीग्राम शर्मा आदि समेत अन्य दर्जनों मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...