15 जनवरी 2017

“सिटीजन होने के साथ नेटीजन बनें”: डीएम ने किया कौशल विकास केंद्र का उद्घाटन

राज्य सरकार के सात निश्चय में से एक "आर्थिक हल युवाओं में बल" के अंतर्गत कुशल युवा कार्यक्रम के तहत कृष्णा इंस्टिट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन मुरलीगंज में स्थापित कौशल विकास केंद्र का उद्घाटन मधेपुरा के डीएम के हाथों संपन्न हुआ.

    मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड मुख्यालय के गोल बाजार में जिला पदाधिकारी मो. सोहेल द्वारा दिन के 11:00 बजे दीप प्रज्वलित कर एवं कंप्यूटर  कक्ष का विधिवत फीता काटकर उद्घाटन किया गया. इस मौके पर  क्षेत्रीय विधायक निरंजन मेहता, मुख्य अतिथि मो. सोहैल, विशिष्ट अतिथि के रुप मे सुबोध कुमार, श्रम अधीक्षक मधेपुरा, श्री राजेश कुमार  जिला नियोजन पदाधिकारी एवं प्रखंड प्रमुख मनोज शाह, नगर अध्यक्ष सर्जना सिद्धि, प्रखंड विकास पदाधिकारी अनुरंजन कुमार, अंचलाधिकारी जयप्रकाश स्वर्णकार एवं इंस्टिट्यूट के निदेशक आर के मंडल उपस्थित थे.   जिला अंकेक्षण पदाधिकारी अरविंद कुमार पूर्णियां मंच संचालन कर रहे थे,  जो इस शहर के  स्थानीय भी निवासी भी  है.
      जिला पदाधिकारी मो. सोहैल ने अपने संबोधन  में कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा इस कार्यक्रम  का विधिवत उद्घाटन 16/12/2016 को समूचे बिहार के लिए मधेपुरा के समिधा ग्रुप  सेंटर स़े ही उद्घाटन किया गया था, यह बड़े सौभाग्य की बात है. यह कार्यक्रम वरदान साबित होगा. कोसी एवं सीमांचल के छात्रों के लिए तीन विधाओं क्रमश: संवाद कौशल, कंप्यूटर का स्मार्ट उपयोग और कैरियर के लिए व्यवहार कौशल प्रशिक्षण सभी प्रखंडों में स्थापित कौशल विकास केन्द्र के माध्यम से दिया जायेगा.
      उन्होंने कहा कि बिहारियों में  ज्ञान  की  में कोई कमी नहीं है. सिर्फ थोड़ी सी अंग्रेजी अनभिज्ञता के कारण वह पीछे है वरना समूचे देश में बिहारियों के प्रतिभा के आगे कोई दूसरा नहीं. अगर हमारे मजदूर जो बाहर जाकर कमाते हैं उन्हें अगर थोड़ी अंग्रेजी और थोड़ी कंप्यूटर की शिक्षा का ज्ञान हो जाए तो वह मजदूरी नहीं वह सुपरवीजन का अर्थात सुपरवाइजर का काम करेंगे और अच्छी तनख्वाह भी मिलेगी.
    उन्होंने कहा कि हमारे युवाओं के लिए कुशल युवा कार्यक्रम के माध्यम से उन्हें सुनहरा अवसर जीवन में आगे बढ़ने और सफलता प्राप्त करने के लिए मिलेगा. संवाद कौशल से विविध रोजगार की संभावना है. इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा. ग्लोबली डिमांड के लिए अंग्रेजी भाषा पर पकड़ बनेगी. व्यवहार कौशल के द्वारा युवाओं को टीम वर्क बढ़ाने, संतुष्ट ग्राहक और ग्राहक सेवा का स्तर बढ़ाने, दूसरों को समझकर पारस्परिक संबंधों को बढ़ाने का व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया जायेगा.
     समूचे मधेपुरा में इस तरह के  66 सेंटर खुलेंगे, जिसमें हर ब्लाक में एक सेक्टर बनाए गए हैं. कुछ प्राइवेट सेंटर भी खोले गए हैं तथा हर सेक्टर में 40 बच्चे और जो कोई  भी इस शिक्षा का लाभ चाहेगे वह भी बिल्कुल मुफ्त सिर्फ अपने  प्रखंड़ कार्यालय में  आनलाइन जमा कर लाभ उठा  सकते हैं. आज के इस डिजिटल समय में हर किसी को सिटीजन होने के साथ-साथ नेटीजन होना जरूरी है अर्थात अगर आप मजदूर भी हैं तो आप को कंप्यूटर का ज्ञान होना अनिवार्य है.
    अंत में उन्होंने कहा कि सात निश्चय के अलावा  कार्यक्रम है शराबबंदी और इस पर मानव श्रृंखला 21 तारीख को बनानी है. 21 तारीख को 12:00 बजे से 1:00 बजे तक सभी कामकाजों को छोड़कर सड़क पर खड़े होकर इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जिला पदाधिकारी महोदय ने सब से अनुरोध किया.
      इस मौके पर मुरलीगंज के गणमान्य लोगों के आए थे चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष ब्रह्मानंद जयसवाल, चेंबर ऑफ कॉमर्स के उपाध्यक्ष दिनेश मिश्रा, के पी कॉलेज के प्राचार्य महेंद्र खिरहरी, सेवानिवृत्त प्राध्यापक प्रो नगेंद्र प्रसाद यादव, प्रो शब्बीर अहमद, महावीर मंडल, बी एल हाई स्कूल के प्रधानाध्यापक रुद्रा नवल, राजेश शर्मा, जदयू नेता सुरेंदर यादव, मुखिया राजीव कुमार, सेवानिवृत्त  प्रधानाचार्य सत्यनारायण मंडल के  सैकड़ों अभिभावक मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...