06 जनवरी 2017

पैक्स अध्यक्ष हत्या मामला: जब किसी से नहीं थी दुश्मनी तो फिर वे हत्यारे कौन थे?

मधेपुरा जिला के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत गंगापुर पंचायत में कल गुरुवार की संध्या गंगापुर पंचायत के पैक्स अध्यक्ष मनीष कुमार की अज्ञात अपराधियों द्वारा की गई हत्या में प्रत्यक्षदर्शियों से कुछ अहम सुराग मिलने की सम्भावना है.
   घटनास्थल पर घास काट रही महिला प्रमिला देवी ने मधेपुरा टाइम्स को बताया कि दो युवक पैदल चलकर मनीष कुमार के पास खेत में आये और उनसे कुछ बातचीत की. बातचीत में उन्होंने किसी और के बारे में पूछा जिस पर मनीष कुमार ने बताया कि लड्डू मधेपुरा में है. इतना सुनने के बाद दोनों अपराधियों ने मनीष कुमार को गोली मार दी. मनीष कुमार वहां से चंद कदम आगे चलकर बांसबिट्टी के पास गिर गया जहाँ उसकी मौत हो गई. घास काट रही महिला ने दौड़ कर घर वालों को इसकी सूचना दी जिसके बाद गांव वालों की मदद से उठाकर मनीष को मुरलीगंज अस्पताल लाया गया, जहां ड्यूटी पर तैनात डाक्टर राजेश कुमार ने मृत घोषित कर दिया.
       मृतक के बारे में लगभग सभी ग्रामीणों का एक ही मत था कि यह स्वच्छ छवि का व्यक्ति था और किसी से किसी प्रकार की दुश्मनी नहीं थी. हत्या का कारण लोगों की समझ से परे लग रहा था. मृतक के बड़े भाई संजय कुमार ने बताया कि इसकी किसी से दुश्मनी नहीं थी. फिर घटना की वजह बताने में उन्होंने असमर्थता जाहिर की, उनकी मनोस्थिति अभी वैसी नहीं पाई गई कि वह कुछ बयान दे पाते. ग्रामीणों की माने तो गांव में सभी के साथ सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनीष कुमार रहा करते थे और जबसे पैक्स अध्यक्ष बने थे उनका और भी मृदु स्वभाव दिख रहा था.
     जिस महिला ने गोली चलाते हुए व्यक्ति व्यक्ति को देखा उसने हत्याओं की उम्र 22 से 25 साल बताया और वह काले रंग के स्वेटर और जैकेट को पहने हुए था. गोली चलाने के उपरांत बिरगांव की तरफ भागकर निकल गया.
        अब ऐसे में किस रंजिश के तहत इन्हें गोली मारी गई इस विषय में पुलिस अनुसंधान से ही कुछ सच्चाई सामने सकती है पर थाना अध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि अभी तक थाने में आवेदन मृतक के परिवार या पत्नी की ओर से नहीं आया है. आने के उपरांत अनुसंधानात्मक कार्यवाही की जाएगी. प्राथमिक तौर पर कल की घटना दर्ज कर ली गई है उसी दिशा में हम अनुसंधान भी चला रहे हैं और हम बहुत ही जल्द नतीजे पर होंगे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...