02 जनवरी 2017

मधेपुरा में डबल मर्डर: कहीं मधेपुरा के अपराधियों की भी तो संलिप्तता नहीं?

गुजरे वर्ष 2016 के अंतिम दिन मधेपुरा में हुए डबल मर्डर केस में मधेपुरा पुलिस को बड़ी सफलता मिलती नजर आ रही है.  मामले में मधेपुरा पुलिस ने तीन दिनों के अन्दर गुत्थी सुलझाई और हत्या की तह तक पहुँचती दिखाई दे रही है.

     दो युवकों की हत्या में प्रयोग किये गये चार पहिये वाहन सूमो विक्टा के साथ उसके चालक को सुपौल से गिरफ्तार कर लिया गया है. बता दें कि पिछले 31 दिसंबर को सदर थाना क्षेत्र के तुलसीबाड़ी नहर के पास अज्ञात अपराधियों ने मिलकर दो युवकों की गोली मारकर हत्या कर दी थी. मामले में मधेपुरा एसपी विकास कुमार ने बताया कि दो युवक की एक साथ हत्या मामले का  खुलासा हो चुका है. सुपौल जिले के किशनपुर थाना क्षेत्र से जुड़ा है हत्या का तार. हत्या में प्रयोग किये गए एक सूमो विक्टा वाहन के साथ चालक को सुपौल के किशनपुर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया है और जल्द हीं अन्य अपराधी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. बहराल सीडीआर और मोबाइल लोकेशन के माध्यम से मामले को खंगाला जा रहा है.
     मौके पर सदर थानाध्यक्ष सह पुलिस निरीक्षक मनीष कुमार भी थे मौजूद. सूत्रों की माने तो थानाध्यक्ष और पुलिस बलों के कुशल सहयोग से तीन दिनों के अन्दर मधेपुरा पुलिस को मिली है सफलता. हालाँकि गिरफ्तार चालक से गहन पूछताछ हो रही है जिसके बाद खुल सकते हैं और भी कई राज. हत्या में शामिल अपराधियों के नाम और पता पुलिस फिलहाल सुरक्षा और अनुसंधान पर असर के कारणों से नहीं खोल रही है पर सवाल उठता है कि आखिर सुपौल से चलकर अपराधी मधेपुरा के सुदूरवर्ती इलाकों के तुलसीवाड़ी सुनसान नहर के पास क्यों और किसने की हत्या? कहीं मधेपुरा के स्थानीय अपराधी की भी हत्या में नहीं है संलिप्तता ? ये तो अब आगे अनुसंधान के बाद हीं पता चल पाएगा लेकिन मधेपुरा में एक साथ डबल मर्डर ने इलाके में दहशत जरूर पैदा कर दिया है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...