31 जनवरी 2017

मौत की नींद सोया दुर्घटना का शिकार हो 2 वर्ष का शिवम्: कब जागेगा परिवहन विभाग?

मधेपुरा जिले के चौसा के खोखन टोला में सड़क हादसे में दो वर्ष के बच्चे शिवम् कुमार की मौत हो गई, जिसके बाद परिजनों पर दुःख का पहाड़ आ टूटा है, क्योंकि शिवम् एकलौती संतान था.

   बताया जाता है कि आज दोपहर चौसा रूपौली मुख्य मार्ग में खोखन टोला में अरजपुर की दिशा से टेंट का सामान लेकर आर ही जुगाड़ गाड़ी के चपेट में आने से रामदेव मंडल का 2 वर्षीय पुत्र शिवम् कुमार की मौत घटना स्थल पर ही हो गई. जुगाड़ गाड़ी पूर्णियां जिले के किसी टेंट मालिक रविंदर का बताया गया. लोगों का कहना है कि जुगाड़ गाड़ी भी वाही चला रहा था. जुगाड़ गाड़ी का ड्राइवर फरार हो गया है. इस घटना से लोग आक्रोशित हो गए और सा रूपौली मुख्य मार्ग को जाम कर प्रदर्शन किया.
    घटना की जानकारी मिलते ही चौसा थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह, प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश बिहारी वर्मा एवं अंचलाधिकारी अजय कुमार घटना स्थल पर पहुँच गए शिवम्  अपने माता-पिता की एकलौती संतान था. माँ पूनम देवी रो रो कह रही थी कि ‘बहुत मांगै-चांगै पर भगवान हमरा एगो बेटा देलकै, वहु छीनी लेलकै’.
      देखा जाय तो घटना में अभिभावक, जिसने अपने बच्चे का ध्यान नहीं रखा और लापरवाह चालक के साथ परिवहन विभाग भी सीधे तौर पर दोषी है. जुगाड़ गाड़ी का कोई लायसेंस नहीं होता पर जिले के सुदूर क्षेत्रों सहित जिला मुख्यालय तक में ये अनियंत्रित गाड़ियाँ चलती रहती है. ऑटो से लेकर बड़े वाहनों के भी कई नाबालिग चालक आपको सड़कों पर मिल जायेंगे जो आम लोगों की मौत के अक्सर जिम्मेवार होते हैं. पर मधेपुरा के परिवहन विभाग की कुम्भकरण वाली नींद इनपर लगाम लगाने के लिए नहीं खुल रही है. जाहिर है ऐसे में यदि आप सडकों पर निकलते है तो भगवान्-भगवान् तबतक रटते रहिये जबतक आप सुरक्षित घर वापस नहीं पहुँच जाते.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...