04 जनवरी 2017

जुआरियों ने की ‘कैशलेस गैम्बलिंग’ की शुरुआत, पेटीएम से अब सुरक्षित जुआ



एक तरफ जहाँ राज्य की राजधानी पटना में लोग नये वर्ष के आगमन के साथ नोटबन्दी से  परेशान थे और दूसरी तरफ  प्रकाश पर्व की तैयारी  तल रही थी वहीँ इस वहां बीच जुए की लत से लाचार युवाओं ने कैशलेस गैम्बलिंग की इजाद कर अपनी मुश्किलें आसान कर डाली.  

          जुए की लत ने बहुत से युवाओं को बुरी तरह जकड़ रखा है और ये अब बिना पैसे के ही कैशलैस तरीके  को अपना अपनी  शाम रंगीन कर रहे हैं. पेटीएम के द्वारा बिना किसी भय के कहीं भी इनकी मजलिस जम जाती है और सारे लेन-देन पेटीएम के सहारे ही संपन्न हो जाती है. उन्होंने  स्पष्ट रूप से स्वीकार किया कि बेईमानी के धंधे में ही ईमानदारी सही तरीके से चलती है.
       राजीव, हरीष, रवि, संदीप  (जो बदले हुए  नाम हैं) का मानना है कि बदलते ज़माने के दौर से हमारा देश भी काफी बदल रहा है. माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र दामोदर दास मोदी की अगुआई में देश को डिजिटल बनाने के लिए विभिन्न प्रयास किये जा रहे हैं. देश से भ्रष्टाचार खत्म करने हेतु प्रधानमंत्री ने टकसाल पर चोट की और देश को कैशलेश बनाने के लिए अग्रसर हुए. काफी आलोचनाओं और अटकलों के वावजूद देश अब कैशलेश की  राह पर धीरे धीरे कदम बढ़ा रही है. शहरी क्षेत्र में चाय के दुकान से लेकर राशन किरासन की दुकानों पर कही अब paytm का प्रयोग होने लगा है तो फिर द ग्रेट गैम्बलर ही क्यूं पीछे रहे. यहाँ तक कि लोग अब ताश और जुए खेलने के लिए भी अब paytm का प्रयोग करने लगे हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...