08 दिसंबर 2016

सुपौल: डीईओ कार्यालय के प्रधान लिपिक व कर्मी निलंबित

सुपौल। जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय में तैनात अधिकारी कर्मी हम नहीं सुधरेंगे की  तर्ज पर जिले में कार्य कर रहे हैं। अपने मनमाने रवैये और गलत कार्यों के लिए हमेशा से ही यह कार्यालय सुर्खियों में रहा है।  
हाल के दिनों में सरकार द्वारा मनमाने ढ़ंग से कार्य करने एवं सरकारी आदेश की अवहेलना के आरोप में कई अधिकारियों के विरुद्ध निलंबन सहित अन्य कई कार्रवाई की जा चुकी है। बावजूद इसके अधिकारी कर्मियों की कार्यशैली में किसी प्रकार का बदलाव नहीं हो रहा है।
 गत माह सरकार द्वारा विभागीय आदेश का अनुपालन नहीं करने एवं आवंटन के बावजूद शिक्षकों को नियत समय पर वेतन का भुगतान नहीं करने के आरोप में जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना को निलंबित भी कर दिया गया। लेकिन इस कार्रवाई के बावजूद यहां के अधिकारी कर्मी सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। इसी कड़ी में विभागीय आदेश की अवहेलना, अनुशासनहीनता एवं स्वेच्छाचारिता से कार्य करने के आरोप में एक बार फिर इस कार्यालय के दो कर्मियों पर निलंबन की गाज गिरी है।
 क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक कोसी प्रमंडल सहरसा प्रभाकर सिंह ने जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के प्रधान लिपिक नरेश प्रसाद एवं स्थापना शाखा के लिपिक विजय कुमार मंडल को विभागीय कार्यवाही के अधीन रखते हुए पत्र निर्गत की तिथि से निलंबित कर दिया है।  निलंबित अवधि में दोनों निलंबित कर्मियों का मुख्यालय डीईओ कार्यालय सहरसा निर्धारित किया गया है। दोनों कर्मियों के विरुद्ध आरोप पत्र अलग से निर्गत किया जा रहा है।    

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...