13 दिसंबर 2016

ठंढ का कहर जारी: मधेपुरा के स्कूलों का समय फिर बदला

मधेपुरा जिले में ठंढ का कहर जारी है और खासकर बच्चे इसके चपेट में आकर बीमार पड़ रहे हैं साथ ही आम जनजीवन भी बुरी तरह प्रभावित हो चुका है. ऐसे में जिले में स्कूलों के समय में फिर से परिवर्तन किया गया है.
          सुबह में देर तक कुहासा छाए रहने और बच्चों के पठन-पाठन के प्रभावित होने के कारण मधेपुरा में सभी सरकारी एवं निजी स्कूलों के समय में फिर से परिवर्तन कर दिया गया है. मधेपुरा के डीएम मो० सोहैल ने विद्यालय खोलने की अवधि परिवर्तन से सम्बंधित दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लगाने के सम्बन्ध में आदेश जारी करते हुए जिले के वैसे सभी सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालय जहाँ पर 01 वर्ष से 05 वर्ग तक के बच्चे पठन-पठान के लिए आये हैं, को प्रात:कालीन खुलने का न्यूनतम समय 10:00 बजे पूर्वाह्न निर्धारित किया है. यह आदेश मौसम की सामान्य स्थिति होने तक लागू रहेगा. स्थिति सामान्य होने पर स्वत: पूर्व की भांति निर्धारित समय से विद्यालय खोले जायेंगे. अपने आदेव्श में जिला दंडाधिकारी मो० सोहैल ने लिखा है कि यह निषेधाज्ञा तात्कालिक प्रभाव से लागू होगा.
          उधर मधेपुरा के प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने भी बढती ठंढ को लेकर एक बैठक की जिसमें यह निर्णय लिया गया कि नर्सरी से वन तक के क्लास आगामी 17 दिसंबर तक बंद कर दिए जाएँ तथा बाकी क्लास को जिलाधिकारी के आदेश के आलोक में सुबह दस बजे से ही संचालित किये जाएँ. जिला मुख्यालय के दार्जिलिंग पब्लिक स्कूल में हुई बैठक में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष किशोर कुमार, चन्द्रिका कुमारी, अरूण कुमार सिंह, चिरामणि प्रसाद, सुशील शांडिल्य, मानव सिंह, अमरेन्द्र कुमार सिन्हा, श्यामल सुमित्र आदि शामिल थे. 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...