15 दिसंबर 2016

‘बूढ़े मां बाप व सास-ससुर की सेवा से ही मिलेगा सारे धाम का फल’


मधेपुरा जिले के बिहारीगंज प्रखंड स्तरीय संतमत सत्संग का दो दिवसीय 16वां वार्षिक अधिवेशन मोहनपुर बिहारीगंज सरस्वती स्थान परिसर सम्पन्न हुआ. आयोजन के प्रथम सत्र में भजन, कीर्तन, ग्रंथपाथ व प्रवचन का कार्यक्रम रखा गया.

अपने प्रवचन में बाबा योगानंद जी महाराज ने कहा कि आमजन ईश्वर की खोज में केदारनाथ से बदरी धाम तक की दौड़ लगाते है, पर ऐसा करने वाले अपने घर के बड़े बुर्जगो की सेवा करने में पीछे रह जाते हैं. वे पानी सेवा के लिए तरसते रहते हैं, पर उसे कोई देखने वाला नहीं होता है. ऐसे लोग यह नहीं समझ पाते हैं कि घर में जो बूढ़े मां बाप सास-ससुर हैं, उसकी सेवा करने से हीं सारे धाम का फल मिलेगा. पर लोग ऐसा नहीं कर बाहर भटकते हैं.
   उन्होंने कहा कि सच्ची भक्ति तभी होगी जब बड़ो का सम्मान देकर उनकी सेवा करेंगे. स्थानीय बाबा भूमि दास जी महाराज ने कहा कि जब कई जन्मों का पुण्य इकठ्ठा होता है तो सत्संग संतो के दर्शन होते हैं. आज जब पुण्य जमा हुआ तो यह एक बड़ा आयोजन हो रहा है, जिसका फल क्षेत्र के सभी लोग उठा रहे हैं. ईश्वर की प्राप्ति के लिए संतो का संग आवश्यक है, बिना उसके संग से परम पिता परमात्मा तक नहीं पहुंचा जा सकता है.
    सत्संग के दोनों दिन भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें बाहर से आए लोगों को मुफ्त में भोजन जल उपलब्ध कराया गया. मंच की अध्यक्षता प्रो. देवनारायण पासवान देव ने किया. मौके पर सुभाष बाबा, विजय दास, गुरू प्रकाश, चुनचुन भगत, गांधी जी, बिसुनदेव सिंह, जीतेन्द्र प्रसाद यादव, सत्यनारायण पासवान, कुमार चन्द्रभूषण समेत अन्य लोग उपस्थित थे.
(रिपोर्ट: रानी देवी)   

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...