30 दिसंबर 2016

पूर्व महिला प्रमुख का पति गिरफ्तार: कुख्यात अपराधी है संतलाल सिंह



मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड के पूर्व प्रमुख अझलि देवी के पति संतलाल सिंह को चौसा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. मधेपुरा एसपी विकास कुमार ने उनके आपराधिक इतिहास और वर्तमान के बारे में विस्तृत जानकारी दी है.

  प्रेस कॉन्फ्रेंस में मधेपुरा पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि संतलाल सिंह एक कुख्यात अपराधी है और इसके ऊपर चौसा थाना एवं नौगछिया बिहपुर में लूट, आर्म्स एक्ट, फिरौती, अपहरण समेत करीब दो दर्जन मामले दर्ज हैं.
       गिरफ़्तारी के सम्बन्ध में बताया कि चौसा थाना अध्यक्ष सुमन कुमार को  गुप्त सुचना मिली थी कि संतलाल सिंह, सुनील सिंह, बजरंगी सिंह, पंकज मुनि, चूल्हो सिंह, राजो सिंह एवं मुरौत के  छबिन्दर सिंह एक अपराध को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं. सूचना मिलते ही इन्स्पेक्टर सुरेश राम और चौसा थाना अध्यक्ष ने अपनेशस्त्र बल के साथ छापेमारी किया, जिसमें पुलिस को देख संतलाल सिंह भागने लगा. पर पुलिस द्वारा पीछा करके संतलाल को गिरफ्तार कर लिया गया. बाकी अपराधी अंधेरा होने के कारण भाग निकले.
     अभियुक्त के पास से एक देशी पिस्तौल, एक देशी कट्टा और 12 जिन्दा कारतूस एवं 4 बोतल विदेशी शराब, एक नई होंडा की मोटर सायकिल बरामद किया गया. इस पर चौसा थाना में भी कई मामले दर्ज हैं जिनमें चौसा थाना कांड संख्या 33/2000 धारा 379, 411/34, कांड सं 34/2000 धारा 147, 148, 149, 307, 353 कांड सं 02/2001 धारा 25 बी 26 आर्म्स एक्ट, कांड सं 29/2002 धारा 386 कांड सं 48/2005 धारा 302, 386, 34, 26 आर्म्स एक्ट, कांड सं 79/2007 धारा 399, 402, 25बी, 26, 27 आर्म्स एक्ट कांड सं 52/2007 धारा 386 कांड सं 72/2008 धारा 147, 148, 149, 323, 379, कांड सं 53/2012 धारा 147, 148, 149, 323, 379, 427, 384 भादवि मुख्य हैं. वैसे बताया गया कि इन कांडों में वह जमानत पर था जबकि ताजा कांड सं 217 /2016, कांड सं 231/2016, कांड सं 234/2016, कांड सं 235/216 हैं और ये सभी चौसा थाना में दर्ज हैं. इस के अलावा कदुवा ओपी कांड सं 51/16, खरीक थाना कांड सं 17/1999 धारा 147, 148,149, 353, 307 बिहपुर थाना कांड सं 198/1999 धारा 144, 447, 379, कांड सं 10/2002 धारा 147, 148, 149 बिहपुर रेल थाना कांड सं 03/2000 धारा 395, 397 नौगछिया थाना कांड सं 35/2008 धारा 364, 34 में मामला दर्ज हैं. आज चौसा थाना कांड सं 217, 231, 234, 235/2016 के तहत लूट, रंगदारी, आर्म्स एक्ट तथा अपराधिक योजना बनाने के आरोप में जेल भेजा गया.
      मधेपुरा टाइम्स के एक सवाल पर कि इतने कांड में संलिप्त होने के बावजूद अपराधी जेल से बाहर कैसे घूमने लगते हैं, तो पुलिस अध्यक्ष विकास कुमार ने कहा कि अपराधी से लोग डरते हैं और कोई उसके खिलाफ गवाही नहीं देता है और वह जमानत लेकर फिर से अपराध की दुनिया में चले जाते हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...