01 नवंबर 2016

‘सर्वांगीन विकास के लिए खेल जरूरी’: पहलवानों का हौसला बढ़ाने पहुंचे सांसद

मधेपुरा जिला के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत जीतापुर पंचायत धुरगांव में लक्ष्मी पूजा के अवसर पर कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन किया गया.
      प्रतियोगिता में खगड़िया, मधेपुरा,हरियाणा  के पहलवानों ने हिस्सा लेकर अपने प्रदर्शन से दर्शकों का ध्यान आकर्षित करते रहे. इस प्रतियोगिता का उद्घाटन मधेपुरा के सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने किया. मौके पर उन्होंने खेल जागरूकता के प्रति लोगों को ध्यान देने व इससे होने वाली शारीरिक, बौद्धिक तथा शैक्षणिक विकास के बारे में चर्चा की. चल रही कुश्ती  प्रतियोगिता में विजेता प्रतिभागियों को पारितोषिक  देकर सम्मानित किया. साथ ही उन्होंने समाज के लोगों से आग्रह किया कि अपने बच्चों को शिक्षा के साथ साथ खेल के प्रति भी सजग करें. उन्होनें बिहार सरकार को इसके प्रति निराशापूर्ण नीति के लिए पूरा कोसा. उन्होंने कहा कि मैं खेल के लिए कई बार पालिॅयामेंट में भी आवाज उठाया हूं, जिससे खेल की अनिवार्यता पर बल दिया जाय. बिहार के मुख्यमंत्री द्वारा क्रिकेट खिलाड़ी धोनी और रैना के बुलाए जाने पर खेद व्यक्त करते हुए कहा कि यहां खेल को समाप्त कर दिया गया हैं. कुश्ती के सामाजिक खेल और सामाजिक परंपरा के रूप में  इस प्रतियोगिता खत्म होने के सवाल पर उन्होंने बताया कि खेल चालीस वर्षो से खत्म है चुका है. खेल के माध्यम से नौकरी भी मिलती है.  लेकिन बिहार सरकार इसपर ध्यान नही दे रही हैं. आज तक सीमा पर शहीद जवानों को देखने तक के लिए नही गए हैं.  यहां के खिलाड़ीयों का अस्तित्व खत्म होता जा रहा हैं और वे खिलाड़ी बेरोजगारी और आर्थिक तंगी के कारण जूझ रहें हैं. वही इस दौरान कुश्ती प्रतियोगिता के प्रथम राउण्ड में खगड़िया टीम के छोटू कुमार ने मधेपुरा टीम के तीन  अच्छे अच्छे पहवानों को परास्त कर अपनी जीत की रफ्तार को कायम रखा. वहीँ समाचार लिखे जाने तक दूसरी राउण्ड का खेल जारी था.
    बाद में कई बच्चों ने सांसद पप्पू यादव के साथ सेल्फी खिंचवाते दिखे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...