29 नवंबर 2016

बिहारीगंज- बनमनखी रेलखंड पर काम में तेजी, पर बन रही है आशंका

मधेपुरा। पूर्व मध्य रेल के बिहारीगंज बनमनखी रेलखंड पर पटरी बिछाने का काम अधिकांश स्थानों पर आरंभ कर दिया गया है, पर नोटबंदी को लेकर लोगों के मन में आशंका घर करने लगी है.

ज्ञात हो कि मीटर गेज ट्रेन के बंद होने से आमलोगों में निराशा का भाव था. लोग कहते थे कि अब पांच से सात साल लग जाऐंगे उक्त रेल सेवा के चालू होने में. लेकिन हालिया दिनों में उक्त रेल पथ पर पुराने रेल पथ को उखाड़ने व नई रेल पटरी बिछाने के काम में तेजी आने से लोगों को लगने लगा है कि वे आने वाले नए साल के मध्य तक तक बड़ी रेल लाईन पर यात्रा का आनंद लेना आरंभ कर देगें. उक्त बावत सासंद प्रतिनिधि गोपाल जायसवाल के कथनानुसार मधेपुरा के सासंद पप्पू यादव का कोशी क्षेत्र के विकास पर पूरा ध्यान केन्द्रित कर रखा है. उसी का परिणाम है कि उक्त खंड पर इतना जल्द कार्य आरंभ हो गया और लोग खुश हैं. भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष महादेव चौधरी के अनुसार भाजपा के कुशल नेतृत्व व सुदृढ़ निर्णय क्षमता के कारण ही उक्त खंड पर काम शुरू हो पाया है. जल्द ही बिहारीगंज समेत कोशी की जनता कुर्सेला रेल लाईन से भी जुड़ जाएगी और क्षेत्र का विकास होगा.
सीनियर सेक्शन इंनजीनियर आर के रमण के अनुसार बीस किलोमीटर तक पटरी बिछाने का काम किया गया है. उक्त पथ पर कुल 55 ब्रीज का निर्माण किया जाना है. बारह ब्रिज पूर्व से बना है और 35 छोटे ब्रीज का निर्माण किया जाना है. एक महीने में चार से पांच ब्रिज बनाया जा सकता है. उक्त कार्य के संवेदक साहिल प्रोजेक्ट प्राची के संयुक्त उपक्रम से निर्माण कराया जा रहा है. वहीं आमजनों को यह डर भी सता रहा है कि कहीं नोटबंदी का बाहाना बनाकर संवेदक उक्त कार्य को धीमा न कर दे. वहीं क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि जिस गति से कार्य आरम्भ किया गया था,अब उसमें शिथिलता देखने को मिल रहा है. अगर कार्य तेज गति से नहीं किया गया तो 2017 में इस रूट पर ट्रेन परिचालन का सपना साकार नहीं हो पाएगा और कोशी के लोगों को निराश होना पड़ेगा. 
(रिपोर्ट: रानी देवी)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...