28 नवंबर 2016

वाम दलों ने किया 107 को जाम, वाहनों की लगी लम्बी कतार

केंद्र सरकार की नोटबंदी के खिलाफ बंद के दौरान आज मधेपुरा जिले के मुरलीगंज एनएच 107 को घंटों जाम किया गया, जिससे आने-जाने वालों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा.
   मुरलीगंज प्रखण्ड के बेंगा पुल पर  एनएच 107 को भारतीय कम्युनिस्ट  पार्टी और वाम दलों के कार्यकर्ताओं के द्वारा नोट बंदी को लेकर घंटो जाम करने से आज सुबह के नौ बजे से लेकर दस बजे तक जाम लगा रहा पुल के दोनों ओर वाहनों की लम्बी कतार  लग गई थी. यहाँ तक कि  मोटर साइकिल सवार पुल के  बगल साथ बने  पैदल चलने वाले मार्ग से  गाड़ी निकालने के लिए प्रयासरत थे. बाजार में  बंदी  का कुछ  खास  असर  नहीं  दिखा. कुछ  घंटों के  लिए जन जीवन अवश्य  प्रभावित हुआ. वामपंथी के वरीय नेता रमण कुमार नरेश कुमार, कांग्रेस नेता पप्पू यादव आदि इस दौरान मौजूद थे. कम्यूनिस्ट नेता रमण कुमार का कहना था कि नोट बंदी काला धन वापस लेने हैतु नही बल्कि आम लोगो का धन हड़पने  के लिए सरकार की साजिश है. 500 और 1000 के नोट बंदी को लेकर सबसे ज्यादातर किसानो को परेशानी हुई है.  खासकर गरीब और दैनिक मजदूर लोगो को परेशानी का सामना करना पड़ा है और रवि फसल को बाधित किया गया. सरकार यही फैसला कुछ सोच समझकर कदम उटाते तो आज हम गरीब किसान बंधु मुसीबत में  नही पड़ते. नोट बंदी को लेकर कुव्यवस्था उतपन्न हो गयी है,  जनता तबाह हैं और खेती चौपट हो गयी.
          उधर मधेपुरा में वाम दलों के विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे कर भाकपा के राज्य कार्यकारिणी सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने कहा कि बिना पूर्व तैयारी के नोटबंदी करना आम जनता पर कहर ढाना है. अपने वादे के मुताबिक पीएम नरेंद्र मोदी विदेश से काला धन लाने में अक्षम हो गए हैं इसलिए नोटबंदी का छलावा कर रहे हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...