29 नवंबर 2016

बिना बारिश के कीचड़: बदहाल हैं मुरलीगंज शहर में कुछ इलाके

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज नगर पंचायत में बिना बारिश के कीचड़ से परेशान है स्थानीय नगरपंचायत वासी और उनके पास कोई उपाय नजर आता नहीं दिख रहा है.
मुरलीगंज नगर पंचायत से होकर गुजरनेवाली सहरसा पूर्णिया मुख्य मार्ग एनएच 107 पर स्थित शहर के अति व्यस्त माने जानेवाली सिनेमा हॉल चौक जयरामपुर पिछले कई महीनो से कीचड़मय बने रहने के कारण आमलोगो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है और स्थानीय नगर पंचायत के समन्धित निकाय के अधिकारी मूक दर्शक बन तमाशा देख रहे है.
इस क्षेत्र में जल निकासी की व्यवस्था नहीं रहने से आमजनों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है. विभागीय उदासीनता के कारण यहाँ सड़क किनारे के  सब्जी बाजार की नारकीय स्थिति बना दी है. एनएच 107 सहित अन्य सड़कों पर जल जमाव की समस्या उत्पन्न होने के कारण लोगों को आवागमन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है.  जहां कई दिनों तक जल जमाव रहने से सड़क भी क्षतिग्रस्त है. बताया कि जल जमाव के कारण राहगीरों को पैदल चलने में भी कठिनाई होती रही है.  सड़क मरम्मत  के उपरांत भी सिनेमा हॉल के पास एनएच 107 सड़क पर भी निरंतर जल जमाव की समस्या बनी रहती है. लोगों ने जल जमाव का मुख्य कारण जल निकासी की व्यवस्था नहीं होना गिनाया. हर महीने यहाँ  107 की मरम्मत की जाती  है  पर जल जमाव के  कारण 10 दिन भी नहीं चलती है. सड़क में गड्ढा व जल जमाव के कारण अक्सर दुर्घटनाएं होती रहती है. जलनिकासी की समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण ही जलजमाव की समस्या उत्पन्न होती है. 
    बिना बारिश के कीचड़ शब्द सुन शायद आपको थोड़ी हैरानी हो सकती है, लेकिन यह  हकीकत है मधेपुरा जिले के मुरलीगंज नगरपंचायत के जयरामपुर सिनेमा चौक की जहाँ सालों भर गन्दे पानी जमावड़ा  रहता है, जिससे स्थानीय दुकानदार सहित आम नागरिकों को काफी परेशानियों का सामना करना पर रहा है. बरसात की बात तो छोड़ी आजकल भी घुटने भर पानी जमा रहता है.
स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि यह जयरामपुर टोल वार्ड संख्या दस के नाले का पानी बहकर सड़क पर जमा होता है जो बहुत ही दुर्गन्धित है. आपको बता दूं कि  इस जगह को हनुमान चौक के नाम से भी जाना जाता है.  यहाँ बहुत पुराना हनुमान मंदिर है और सड़क की दूसरी ओर बाबा विश्वकर्मा  का मंदिर है और सबसे अहम बात कि चौक के बीच में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस जी का स्मारक है. यहाँ हमेशा स्मारक के चारों ओर गन्दा पानी जमा रहता है.
दूसरी तरफ कुछ ऐसा ही हाल मुरलीगंज गोलबाजार जानेवाली सड़क पर बबलू मार्केट के पास का भी है और यहाँ भी हमेशा नाले का पानी सड़क पर  जमा रहता है. जिससे बबलू मार्केट के सभी दुकानदार परेशान हैं. कुछ ऐसा ही हाल नगर पंचायत के वार्ड छ: के गोसाई टोला का भी है. स्थानीय द्वारा बताया  कि  टोले के बीचों बीच सड़क पर नाले बनवाये गये थे लेकिन पानी निकासी के लिए व्यवस्थित नही होने के कारण पानी सड़क पर बहता है. यही नहीं, कुछ लोग नाले में अपने शौचालय का भी पानी बहाते हैं जिससे इस पानी  से बीमारी फैलने का डर बना रहता है. बताया गया कि बुडको द्वारा नगर पंचायत के विभिन्न वार्डो में नाले का निर्माण करवाया गया था, जो महीनो भर भी नही चल पाया. लोगों का आरोप है कि घटिया सामग्री प्रयोग कर बनवाये गये नाले निर्माण के कुछ ही दिनो में ध्वस्त हो गए. नाले के निर्माणकर्ता बाबा हंस क्रंस्ट्रेक्सन कम्पनी ने आधे अधूरे कार्य कर सरकारी महकमो से जुड़े लोगों की मिलीभगत से अपनी राशि भी निकासी कर लिया.
इस संबंध में जयरामपुर के वार्ड पार्षद सह नगर उपाध्यक्ष सुनील मंडल ने जल जमाव का मुख्य कारक नगर पंचायत के कनीय अभियंता सुनील यादव को बताया. उन्होंने कनीय अभियंता सुनील यादव पर मनमानी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि जब इस नाले का एस्टिमेट तैयार किया जा रहा था तो मैने उनसे कहा था कि नाले के साथ साथ पानी निकासी के लिए कलभर्ट की भी जरुरी है. मैंने सिनेमा चौक पर और जयरामपुर ब्रह्मस्थान के समीप के लिए कलभर्ट की मांग की और दो जगह सड़क क्रास करने की भी मांग की थी लेकिन उन्होंने अपने मनमाने ढंग से स्टीमेट तैयार किया है ,जिसका यह नतीजा है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...