26 नवंबर 2016

मधेपुरा में स्वीपरों का उत्पात: समाहरणालय में किया तोड़फोड़ और मैला बिखेरा

मधेपुरा नगर परिषद् में महीनों से हड़ताल कर रहे सफाई कर्मियों के धरना-प्रदर्शन ने आज ‘गन्दा’ रूप धारण कर लिया और जिला समाहरणालय में जाकर आज सैंकड़ों स्वीपरों ने जमकर उत्पात मचाया.
मिली जानकारी के अनुसार नगर परिषद् के खिलाफ आज मधेपुरा के स्थानीय स्वीपरों ने सहरसा, सुपौल और मुरलीगंज आदि से भी स्वीपरों को बुलाया था. ये नगर परिषद् के उस निर्णय का विरोध कर रहे थे जिसमे सफाई के लिए जिम्मेवार एनजीओ को इनके साथ वार्ता सफल नहीं रहने के कारण सफाई के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के आदेश दे दिए गए थे.
    बताया गया कि करीब ढाई सौ स्वीपरों का जत्था पहले जिला मुख्यालय के भिरखी काली मंदिर के पास जमा हुए. फिर इन्होने शहर में घूमघूमकर तख्तियों पर प्रशासन विरोधी स्लोगन लिखकर जमकर नारे लगाये. बताया गया कि अपराह्ण में ये वार्ता करने समाहरणालय गए जहाँ जिलाधिकारी किसी अन्य कार्य से कहीं गए हुए थे. इसी बीच ये उग्र हो गए और समाहरणालय में रखे गमलों आदि को तोड़ना शुरू कर दिया. कुछ स्वीपरों ने पिछले शौचालय के हौज को तोड़ दिया और मैला निकाल कर मना करने वाले पुलिस तथा अन्य कर्मियों को फेकना शुरू किया. डर से भागे कई अधिकारी और कर्मी को उन्होंने कमरे में बंद कर दिया. कुछ समय के लिए तो ऐसा लगा जैसे वहां इनका ही कब्ज़ा हो गया हो. उसके बाद इन्होने जिलाधिकारी के वेश्म के सामने भी मैला जमा कर दिया. फिर ये सभी डीआरडीए परिसर डीडीसी से बात करने चले गए.
    इसी बीच जिलाधिकारी मो० सोहैल क्षेत्र से समाहरणालय लौटे तो स्थिति देखकर उन्होंने सख्ती से पेश आने के आदेश दे दिए. उसके बाद पुलिस बल ने सभी अनियंत्रित आन्दोलनकारियों को खदेड़ दिया और बताया गया कि तत्काल तीन आन्दोलनकारियों को गिरफ्तार भी किया गया. समाहरणालय में लगे सीसीटीवी के फुटेज देखे जा रहे हैं और एफआईआर दर्ज करने की प्रक्रिया की जा रही है.
इस वीडियो में देखें स्वीपरों का उत्पात, यहाँ क्लिक करें.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...