12 अक्तूबर 2016

बिहारीगंज में दो समुदायों में तनाव: एसडीओ और एसडीपीओ की गाड़ी फूंकी

मधेपुरा जिले के बिहारीगंज में फिर एक बार दो समुदायों के बीच तनावपूर्ण स्थिति उत्पन्न हो गई है. कल रात जहाँ आक्रोश में कुछ घंटे मूर्ति विसर्जन को रोक दिया गया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ लोगों ने आक्रोश का प्रदर्शन किया वहीँ स्थिति को सँभालने गए एसडीओ और एसडीपीओ के वाहन को आग के हवाले कर दिया गया. मौके पर मधेपुरा डीएम, एसपी, सांसद और विधायक ने जाकर लोगों को समझाया तब जाकर किसी तरह मूर्तियों का विसर्जन किया गया. बिहारीगंज मार्केट में जहाँ बड़ी संख्यां में पुलिस बल मौजूद हैं वहीं आज मुहर्रम को लेकर अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रहीहै.
            मिली जानकारी के अनुसार तनाव नवमी की रात ऑर्केस्ट्रा के दौरान शुरू हुआ जब बिहारीगंज के कुस्थन के रहने वाले एक युवक ने वहां ओछी हरकत शुरू की. लोगों ने विरोध किया और तनाव बढ़ने पर उक्त युवक के साथ मारपीट कर दी गई. इलाज के बाद युवक को पुलिस ने छोड़ दिया. बताया जाता है कि युवक और उसके कुछ सहयोगियों ने फिर दूसरे पक्ष को धमकाना शुरू किया और बीती रात दूसरे पक्ष के एक युवक के साथ मारपीट के बाद तनाव काफी बढ़ गया और लोगों ने कुछ घंटे के लिए रेलवे दुर्गा पूजा समिति, बिहारीगंज और बड़ी दुर्गा स्थान बिहारीगंज की मूर्ति विसर्जन रोक दिया.
            मुहर्रम को देखते हुए जब अधिकारी हंगामा शांत कराने मौके पर पहुंचे तो आक्रोशित भीड़ ने गांधी चौक पर एसडीओ औए सुभाष चौक पर एसडीपीओ की गाड़ी में आग लगा दी. आनन-फानन में पहुंची दमकल की गाड़ी ने किसी तरह आग पर काबू पाया पर तब तक वहां पूरी तरह जलकर बर्बाद हो चुके थे. बताया गया कि बिहारीगंज थानाध्यक्ष के रामपुर में दो पक्षों के बीच तनाव सुलझाने में व्यस्त रहने के कारण कनीय अधिकारी स्थिति तुरंत सँभालने में असमर्थ रहे. बाद में मधेपुरा डीएम मो० सोहैल, एसपी विकास कुमार, एएसपी राजेश कुमार, सांसद पप्पू यादव और स्थानीय विधायक निरंजन मेहता ने जाकर लोगों को समझाया तब जाकर किसी तरह मूर्तियों का विसर्जन किया गया. इलाके में तनाव व्याप्त है और पुलिस मौके पर कैम्प कर रही है.
(नि.सं.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...