20 अक्तूबर 2016

‘कोसी की लंबित योजनाओं के लिए रेल मंत्रालय ने दी राशि’: रंजीत रंजन

पूरे कोसी प्रमंडल में लंबित रेल परियोजनाओं को पूर्ण करने हेतु पर्याप्त राशि उपलब्ध करायी गयी है.
आगामी वर्ष के मार्च माह तक सहरसा-बरूआरी एवं मार्च 2018 तक सहरसा-फारबिसगंज तथा सरायगढ़-सकरी रेलखंड में अमान परिवर्तन का कार्य पूर्ण होने की संभावना है.
मधेपुरा टाइम्स को जानकारी उपलब्ध कराते हुए  क्षेत्रीय सांसद रंजीत रंजन ने कहा कि रेल संबंधी समस्याओं को दूर करने हेतु उन्होंने तथा मधेपुरा के सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने लोक सभा में कई बार जोरदार ढ़ंग से मुद्दे को उठाया और कई बार रेल मंत्री सुरेश प्रभु से मिलकर उनसे लंबित रेल परियोजनाओं को शीघ्र पूरा करने का अनुरोध किया. जिसके परिणामस्वरुप रेल मंत्रालय द्वारा वर्तमान वित्तीय वर्ष में पूरे बिहार का करीब 02 हजार करोड़ की राशि आबंटित की गयी है. वहीं सिर्फ कोसी क्षेत्र को 900 करोड़ 77 लाख रूपये की स्वीकृति दी गयी, जो एक रिकॉर्ड है.
       बताया कि रेल मंत्रालय द्वारा कोसी रेल महासेतु के लिये 60 करोड़, अररिया-सुपौल नयी रेल लाइन के लिये 02 करोड़, सहरसा-फारबिसगंज-निर्मली अमान परिवर्तन हेतु 100 करोड़, सहरसा-पूर्णिया अमान परिवर्तन हेतु 40 करोड़, बिहारीगंज-कुरसैला नयी रेल लाइन के लिये 10 करोड़, मधेपुरा रेल इंजन कारखान हेतु 633 करोड़, मधेपुरा ग्रीन फील्ड हेतु 45 करोड़, कोसी-धमहरा-बदला पुल हेतु 10 करोड़, सहरसा यार्ड में उपरी पुल हेतु 50 लाख सहित अन्य कई योजनाएं शामिल हैं. सांसद ने कहा कि क्षेत्र के सर्वांगीण विकास हेतु वे सतत प्रयत्नशील हैं.
(रिपोर्ट: अशोक यादव)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...