05 अक्तूबर 2016

‘मैया घोड़े पर सवार होकर आएगी और पैदल ही जायेगी’: दुर्गापूजा की तैयारी जोरों पर

मधेपुरा मॆ दुर्गा पूजा की तैयारी जोरों पर है और बंगाल के कुशल कारीगर के द्वारा पंडाल की सजावट देखते ही बनती है. मधेपुरा शहर के बड़ी दुर्गा मंदिर, बंगला स्कूल सहित अन्य मंदिरों में भी सजावट का काम जोरों पर है और भव्य मूर्तियों को अंतिम रुप दिया जा रहा है. बाज़ारों की रौनक भी बढ़ चुकी है और चारों ओर बिजली लाईट से शहर जगमग कर रहा है.

      बता दे कि मधेपुरा जिला मुख्यालय में इस बार पाँच स्थानो पर दुर्गा पूजा की धूम होगी.  गौशाला, बंगला स्कूल प्रांगण, गुदरी बाजार बड़ी  दुर्गा मंदिर मॆ, साहुगढ़ औऱ स्टेशन चौक पर बड़ी संख्या मॆ श्रद्धालु पूजा-अर्चना करने एकत्रित होंगे. वैसे इस बार कुछ खाश तरह की  सजावट देखने कॊ मिल रही है. लोगों की आस्था माँ दुर्गा में इतनी गहरी है बहुत सी जगहों पर समर्पित भक्त कलश अपने शरीर पर रख कर नवरात्रि कर रहे हैं. नवरात्रि और पूजा कॊ लेकर प्रशासन भी सतर्क है. हर जगह पुलिस की गश्ती बढा दी गई है. नवरात्रि के मौके पर बड़ी दुर्गा मंदिर  के पास जागरण का भी प्रोग्राम होता है. 
दशहरा मेले की धूम का अंदाजा अभी से बाजारों की चहल-पहल को देखकर लगने लगा है.
    जानकारों के अनुसार इस बार दुर्गा जी घोड़े पर सवार हो कर आयेगी औऱ पैदल जायेगी. ड्रिक पंचांग डॉट कॉम की मानें तो माँ दुर्गा के घोड़े पर सवार होकर आने पर राजाओं के बीच युद्ध होता है. पंचांगों के कई जानकार हाल में बढे भारत और पाकिस्तान के बीच के तनाव को इससे जोड़कर भी देख रहे हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...