29 अक्तूबर 2016

‘शहीदों का कफन न बेच देना’: दीप जलाकर किया अमर शहीदों को याद

हाल में देश की रक्षा में हुए शहीदों की याद में देश भर में इस दीवाली को अलग से दीये जलाये जा रहे हैं.
मधेपुरा में भी शहीदों की याद में विभिन्न संस्थाओं और लोगों के द्वारा दीये जलाये जा रहे हैं.
   जिले के बिहारीगंज के कन्या विद्यालय के समीप महिला शिल्पकला संस्था के द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में शहीदों के नाम दीप प्रज्ज्वलित कर उन्हें याद किया गया. इस मौके पर बोलते हुए प्रो.नरेश मोहन ने कहा कि आजादी के बाद से कश्मीर की समस्या के कारण हजारों नौजवानों ने अपने प्राणों की आहूति दी. अंग्रेज भारत से चले गए लेकिन विष का ऐसा बीज बो गए जिसका जहर हम सब भारतीय को आज भी पीना पड़ रहा है. उन्होंने आहा कि सरदार बल्लभ भाई पटेल ने अपनी कुशाग्र बुद्धि से कश्मीर के लोगों को हिन्दुस्तान या पाकिस्तान में मिलने की सुविधा दी, पर वहां के राजा प्रजा ने भारत को चुना. फिर भी पाकिस्तान कश्मीर का राग अलापता रहता है. भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशद्रोहियों एवं आतंकवादी गतिविधियों पर अंकुश लगाने के वास्ते सेना को पूरी छूट दी है. इससे हर भारतवासी के दिल में एक नया विश्वास पैदा किया है.
     शिक्षक संघ के प्रखंड अध्यक्ष रविशंकर रवि ने कहा कि वतन वालो वतन बेच देना,धरती गगन बेच देना, शहीदों ने जान दी है, दौलत के खातिर,शहीदों का कफन बेच देना. इस मौके पर अमित कुमार,पवन कुमार, विनय, भारती, गीतांजली आदि छात्रों ने दीप जलाकर अमर शहीदों को याद किया. संबोधन प्रो.सरोजनी देवी, भारती कुमारी, विनय कुमार, गीतांजली भारती व सुरेश प्रसाद सिंह ने श्रद्धा सुमन अर्पित कर शहीदों को याद किया.
(रिपोर्ट: रानी देवी)      

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...