27 अक्तूबर 2016

सिंहेश्वर थाना: आरोपितों को पकड़ कर छोड़ देने से पीड़ितों की टूट रही आस

मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर थाने में पिछले तीन माह से कई आरोपियों को पकड़कर फिर पुलिस के द्वारा थाना से ही छोड़ देने पर सवाल उठने लगे हैं.
 ऐसा ही एक मामला बुधवार को सामने आया, जब मंगलवार को दो लाख 83 हजार रुपए की चोरी मामले के आरोपित को पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर पहले तो हिरासत में रखने की बात कही, बाद में उसे छोड़ दिया गया. जबकि उक्त व्यक्ति पर ही चोरी का आरोप था और उसी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी पीड़ित ने की थी.
  
यह है मामला : सिंहेश्वर थानाक्षेत्र के सुखासन स्थित बाल सुधार गृह का निर्माण करा रहे ठेकेदार के साथ गम्हरिया के औराही के पैक्स अध्यक्ष के पुत्र सत्यम बिहारी के पास पूर्व से एक लाख रुपए थे. इसके अलावे मंगलवार को उसने मधेपुरा स्थित यूको बैंक की शाखा से एक लाख 83 हजार रुपए की निकासी की. सारे रुपए अपनी बाइक की डिक्की में रख वह निर्माण स्थल पर गया. यहां से उसकी बाइक की डिक्की को तोड़ कर सारे रुपए चुरा लिये गये. पीड़ित के द्वारा थाने में दिए आवेदन के अनुसार जब वह निर्माण स्थल पर आया था तो पास ही में सुखासन का दिलीप यादव भी मौजूद था. पीड़ित को दिलीप पर ही रुपए चुराने का संदेह है. साथ ही उसका यह भी कहना है कि दिलीप यादव आपराधिक प्रवृति का व्यक्ति है और उसी के खिलाफ कार्रवाई के लिए उसने थाने में आवेदन भी दिया था.
        बताया गया कि घटना की शिकायत करने के बाद पुलिस ने दिलीप यादव को पकड़ लिया. इसके बारे में थानाध्यक्ष ने जानकारी दी कि दिलीप को पूछताछ के लिए लाया गया है. बाद में पता चला कि दिलीप को पुलिस ने छोड़ दिया. पीड़ित सत्यम ने पुलिस की कार्यशैली को संदेहास्पद बताते हुए न्याय की गुहार लगाईं है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...