14 अक्तूबर 2016

विवादों में घिरे एसडीपीओ रहमत अली को हटाया, राज्य स्तर के कई अधिकारी पहुंचे पुलिस छावनी में तब्दील बिहारीगंज, सायबर अफवाहों को रोकने के लिए रोकी गई इंटरनेट सेवा

तीन दिनों से सुलगा मधेपुरा का बिहारीगंज आज शांत रहा. बिहारीगंज पुलिस छावनी में तब्दील हो चुका है और अन्य जिलों से भी काफी संख्यां में मंगाए गए पुलिस बल बिहारीगंज में कैम्प कर रही है.
            हालांकि स्थानीय प्रशासन की अपील के बाद भी पहले की तरह दुकानें नहीं खुल पाई पर जिला प्रशासन के अधिकारियों के माहौल को आज काफी हद तक पटरी पर वापस ला दिया. बिहारीगंज के हालात पर राज्य सरकार ने भी संज्ञान लिया और आज हालात का जायजा लेने ग्रामीण विकास विभाग के सचिव अरविन्द कुमार चौधरी, पटना स्पेशल ब्रांच के आईजी बच्चू सिंह मीणा के अलावे आईजी दरभंगा उमाशंकर सुधांशु, कोसी के कमिश्नर उपेन्द्र कुमार सिंह तथा डीआईजी सहरसा उपेन्द्र सिन्हा भी पहुंचे. उच्चाधिकारियों ने मधेपुरा के डीएम मो० सोहैल और एसपी विकास कुमार से लम्बी वार्ता की और पूरी स्थिति का जायजा लिया. वे अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपेगे. वैसे तो उन्होंने अधिकारिक बयान देने से इंकार कर दिया, लेकिन इतना जरूर कहा कि किसी भी कीमत पर इस घटना में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा. आरोपों के बावत उदाकिशुनगंज के एसडीपीओ रहमत अली को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है. इस सम्बन्ध में गृह विभाग ने अधिसूचना भी जारी कर दी है.
           बिहार सरकार के गृह विभाग से जारी अधिसूचना संख्यां 8214 दिनांक 14.10.2016 के अनुसार उदाकिशुनगंज के एसडीपीओ रहमत अली को मधेपुरा (मुख्यालय) का पुलिस उपाधीक्षक बनाया गया है जबकि पुलिस उपाधीक्षक रेल, क्यूल अरूण कुमार दूबे को उदाकिशुनगंज का पुलिस उपाधीक्षक बनाया गया है. मधेपुरा मुख्यालय के वर्तमान पुलिस उपाधीक्षक पोलस्त कुमार को पुलिस उपाधीक्षक, बिहार सैन्य पुलिस-9 जमालपुर और रजनीश कुमार  बिहार सैन्य पुलिस-9 जमालपुर को पुलिस उपाधीक्षक रेल, क्यूल के पद पर भेजा गया है. बता दें कि उदाकिषुनगंज के एसडीपीओ की तबादले की मांग भी एक वर्ग के लोग कर रहे थे. उनका आरोप था कि इस घटना की शुरुआत में शामिल दो लड़कों को छुड़ाने में उदाकिशुनगंज के एसडीपीओ की भी संलिप्तता रही थी. इससे पूर्व बिहारीगंज के थानाध्यक्ष राजेश कुमार को भी गुरुवार को ही सस्पेंड कर दिया गया था.
            उधर वरीय अधिकारियों से बातचीत के बाद मधेपुरा के जिलाधिकारी ने कहा कि स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और जिन दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है उनके खिलाफ प्रशासन के पास पुख्ता सबूत मौजूद हैं. उन्होंने बताया कि कुछ अफवाहें फैल रही थी. किसी दूसरी घटनाओं के फोटो पोस्ट किये जा रहे थे. इसे रोकने के लिए गुरुवार की रात से ही डाटा सर्विस को बंद कर दिया गया है. स्थिति सामान्य होने के बाद डाटा सर्विस को दोबारा बहाल कर दिया जाएगा. हालांकि ब्राड बैंड सेवा को इससे अलग रखा गया था. डीएम ने कहा कि बिहारीगंज में स्थिति लगभग सामान्य हो गई है. व्यवसायियों से लगातार वार्ता की जा रही और प्रयास किया जाएगा कि शनिवार को स्थिति पूरी तरह सामान्य हो जाए.
(रिपोर्ट: रानी देवी के साथ बिहारीगंज से लौटकर डॉ. आई. सी. भगत) 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...