02 सितंबर 2016

सिंहेश्वर मंदिर न्यास समिति के कई ठोस फैसले, बदलेगी सूरत, सुन्दर होगा मंदिर परिसर

मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर मंदिर न्यास समिति में पहली बार ठोस निर्णय लेने की पहल दिखाई दे रही है. नये सचिव सह डीडीसी मिथिलेश कुमार ने विकास की गाड़ी को खींचने की जगह दौड़ाने का निर्णय लिया, जिसकी प्रशंसा की जा रही है.
     इस कड़ी में मंदिर परिसर को सुंदर बनाने के लिए परिसर स्थित दो तरफ के धर्मशाला को तोड़ कर नया और सुंदर बनाने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया.

मंदिर को किया जाएगा रोशन
:- बैठक मंदिर में बिजली बिल के बोझ को कम करने के लिए 100, 200, वाट के बल्व को बदल कर सरकार द्वारा उपलब्ध 200 उजाला एलईडी बल्व लगाये जाने तथा मंदिर की चारों दिशा दिशा रोशनी से जगमगाता रहे उसके लिए 21 एलईडी वेपर भी लगाया जायेगा.
 गर्म गृह मे शिव लिंग पर लगेगा अर्घा:-  आखिरकार दो साल से बिना अर्घा के ही रह रहे करोड़ पति बाबा के अर्घा लगाने का भी प्रस्ताव लिया गया. साथ ही श्रद्धालुओं को शिव लिंग से दूर रखने के लिए चारो ओर स्टील के पाईप का घेरा बनाया जायेगा.     
पूर्व लेखापाल पर गबन का आरोप :- सेवा निवृत्त लेखापाल शिव नारायण महतो पर चार्ज देने में विलंब करने एवं राशि के गबन के मामले में थाना में प्राथमिकी दर्ज करने का निर्णय लिया.
विवाह शुल्क में हेराफेरी का है मामला :- समिति सदस्य सरोज सिंह ने विवाह शुल्क और न्योछावर शुल्क की हेराफेरी का मामला उठाया सबूत मे आलोक कुमार की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा बिना रसीद के जमा हुई राशि न्यास में जमा नही होता है. यह खेल वर्षो से चल रहा है जिसके दायरे में न्यास के कई कर्मचारी आ रहे हैं.
    बैठक में जय कृष्ण मेहता, सत्यजीत कुमार,  भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी, उपेंद्र रजक,  सुधीर ठाकुर, मदन मोहन प्रसाद, उदय झा, मनोज ठाकुर,  वाल किशोर यादव मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...