03 सितंबर 2016

‘जीना यहाँ, मरना यहाँ, इसके सिवा जाना कहाँ’: फिर लौटी बिहारीगंज पूर्व मंत्री व वर्तमान भाजपा नेत्री रेणु कुशवाहा

‘शमां बुझकर भी जल सकती है, किस्ती तूफान से निकल सकती है, होके मायूस यूं न अपने इरादे बदल, तेरी किस्मत कभी भी बदल सकती है.’   
     इन्हीं जोशीले अल्फाजों के बीच भाजपा का कार्यकर्ता मिलन समारोह बिहारीगंज के माँ चण्डिके धर्मशाला में संपन्न हुआ. समारोह में मौजूद बिहार के पूर्व मंत्री सह भाजपा नेत्री डा. रेणु कुशवाहा अपने कार्यकत्ताओं का हौसला बढ़ाते कहा कि बिहारीगंज की जनता ने जो स्नेह, सम्मान व प्यार दिया है, उसे वे कभी नहीं भूला सकती. अब जीना और मरना इसी विधानसभा में होगा. और आने वाले दिनों में वे बिहारीगंज विधानसभा से हीं चुनाव लड़ेंगी. अपने क्षेत्रीय भ्रमण के दौरान जनता से मिले अपार स्नेह व सम्मान के बावत बोली 2005 के चुनाव काल से हीं जनता ने उन्हें सर आंखो पर बिठाया है, जिसे वे ताउम्र नहीं भूल सकती है. दूसरे जगह से चुनाव लड़ना उनकी भूल थी. यहां की जनता के लिए उनका दरवाजा 24 घंटे खुला रहेगा. उन्होंने अपने लोगों से कहा कि आप अपने आप को निःसहाय न समझें. जरूरत पड़ने पर उन्हें सेवा करने का मौका दें और बुंलदी के साथ अपने कार्यो को करें.
      लोकसभा प्रत्याशी सह भाजपा नेता विजय कुमार सिंह ने बिहार में शराब बंदी को सही बताया लेकिन काले कानून की संज्ञा दी. उन्होंने कहा कि पहले तो बिहार सरकार ने गली गली शराब की दूकानें खोल दी, अब शराब के नाम पर पूरे परिवार को जेल भेज रहे है. भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष महादेव सिंह ने कहा कि वर्तमान समया में लगता है कि बिहारीगंज विधानसभा रिक्त पड़ा है. यहां की जनता असहाय महशूस कर रही है, आपके आने व जनता व कार्यकत्ता से मिलने पर सबों में एक नया उत्साह भर गया है.
     समारोह को पार्टी के पंचायत अध्यक्ष, वरिष्ठ कार्यकर्ता  के अलावा गठबंधन के नेता डीके कुमार, जिला उपाध्यक्ष शालीग्राम सिंह, जटाधर चौधरी, मधुबन पंचायत के पैक्स अध्यक्ष प्रीतम कुमार मंडल, अंकित राज, नबाव, रविशंकर, विजय कुमार मेहता, अल्पसंख्यक सेल के जसीम खान समेत अन्य ने भी संबोधित किया. मंच संचालन भाजपा प्रखंड अध्यक्ष शशिकांत झा ने किया.
(रिपोर्ट: रानी देवी)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...