28 सितंबर 2016

बीएनएमयू: धरना पर बैठे एक और कर्मचारी की हालत बिगड़ी, अस्पताल में दाखिल, पहले हो चुकी है एक की मौत

मधेपुरा के मंडल विश्वविद्यालय से जुड़े विवाद में कहीं से कोई कमी आती नहीं दीख रही है और अनशन तथा धरना प्रदर्शन अब मौत को लगातार दावत देने लगा है. इससे पहले जहाँ धरना पर बैठे एक अस्थायी कर्मचारी फुलेश्वर मल्लिक की मौत के बाद वीसी तथा अन्य अधिकारियों पर प्राथमिकी दर्ज की चुकी है वहीँ आज भी एक कर्मचारी की स्थिति अचानक से बिगड़ जाने के बाद धरना स्थल पर भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई.
       मंडल विश्वविद्यालय में माली के पद पर अस्थायी कर्मचारी के रूप में कार्यरत सोरेन सिंह आज दिन में अचानक बेहोश हो गए. बाकी कर्मचारियों की सहायता से उन्हें आनन-फानन में सदर अस्पताल मधेपुरा दाखिल कराया गया जहाँ उन्हें सैलाइन आदि चढ़ाया जा रहा था.  अस्पताल में मौजूद सोरेन सिंह की पत्नी और बेटे का आरोप है कि उन्हें गत पांच महीने से वेतन नहीं दिया गया है जिसके कारण घर में भुखमरी की नौबत आ गई है. बताया कि वे लोग फरक्का, मालदह के मूल निवासी हैं और पेट की आग बुझाने उनके पति ने बीएनएमयू में नौकरी की थी. पर उन्हें यहाँ सिर्फ दर्द ही मिल रहा है और लगता है कि यदि विश्वविद्यालय के अधिकारीयों का यही रवैया रहा तो वे अपने पति को खो देंगी.            

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...