11 सितंबर 2016

मधेपुरा: महामारी का रूप ले रहा है डायरिया, इलाज में हो रही कोताही

मधेपुरा जिला के मुरलीगंज प्रखंड के भतखोरा पंचायत में डायरिया महामारी का रूप ले रहा है पर स्वास्थ महकमे के अधिकारी बेपरवाह हैं. डायरिया के कारण ज्योति कुमारी नामक एक बच्ची की शनिवार को मौत हो गयी और कई पर असे अभी खतरा नहीं टला है.
     जानकारी के अनुसार भतखोरा पंचायत के वार्ड संख्यां 06 मुसहरनियाँ रही महादलित टोला में एक दर्जन से अधिक बच्चे मौत के मुहाने पर खड़े हैं. जबकि  पिछले 10 दिनों से डायरिया का कहर जारी है. धरातल पर इलाज के नाम पर मेडिकल टीम तो पंहुची लेकिन खाना-पूरी कर चलते बने. उधर डायरिया के तांडव से एक चार वर्षीया ज्योति कुमारी नामक बच्ची की मौत हो चुकी है और परिजनों ने चिकित्सक पर इलाज में कोताही बरतने का आरोप भी लगाया है. इस महादलित टोले में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है और अब तक डायरिया से एक दर्जन से अधिक बच्चे पीड़ित हैं.
      पीड़ितों के परिजन कभी मुरलीगंज तो कभी मधेपुरा सदर अस्पताल का काट रहे हैं चक्कर पर डायरिया मरीजों का समुचित इलाज नहीं हो पा रहा है. चिकित्सक और स्वास्थ्य महकमों के अधिकारी स्थिति पर काबू होने का हवाला दे रहे हैं. लेकिन  काफी परेशान है महादलित समुदाय के लोग फिलहाल राजीव ऋषिदेव, गुलो ऋषिदेव, बालो कुमार (उम्र दो वर्ष), अनीता देवी (उम्र 25वर्ष), रिंकू कुमारी (उम्र 22 वर्ष), रूपा कुमारी (उम्र 06 वर्ष) सहित एक दर्जन से अधिक बच्चे बीमार है. इस बाबत सीएस डॉ. गदाधर पांडे ने बताया कि डायरिया इलाकों में मेडिकल टीम भेजी गयी है, इलाज करवाया जा रहा है

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...