20 सितंबर 2016

मधेपुरा: पेंसन की आस में कामोदेवी की हुई मौत, 28 माह से नहीं मिला था पेंशन

मधेपुरा जिले के घैलाढ प्रखंड के भतरंधा परमानंदपुर पंचायत वार्ड न0-.12  की एक 80 वर्षीया गरीब महिला की मौत शनिवार को हो गई. बताया जाता है कि वृद्धा पेंशन के सहारे जिन्दगी की गाड़ी खींच रही महिला कामो देवी बीमार चल रही थी और उसे बीते दो साल से ज्यादा से पेंशन नहीं मिला था.
    मृतका कामो देवी के परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार गत 30/5/2014 से अभी तक पेंसन की आस में जीवन से जूझ रही कामो देवी की शनिवार के दिन मौत हो गई. परिजनों ने बताया कि 28 माह से अभी तक पेंशन नही मिलने के कारण ठीक से इलाज नहीं हो पाया और कामो ने आखिर दम तोड़ दिया.
     लोगों ने बताया कि इससे पहले दो और पेंसनधारी की मौत पेंशन समय पर नहीं मिलने के कारण हो गई. कई वर्षो से विकलांग और चलने-फिरने से लाचार कृष्णदेव ऋषिदेव भी अपने जीवन की नैया वृद्धा पेंशन के सहारे ही खींच रहे थे पर  उन्होंने भी पेंशन की आश देखते-देखते इस दुनियां को अलविदा कह दिया.
      बताया गया कि विभागीय लापरवाही के कारण से अभी तक पेंशनधारी लाभुकों को राशि भुगतान नही किया गया, जिस से प्रखंड क्षेत्र के सभी पंचायत की स्थिति इसी प्रकार बनी हुई है. उधर प्रखंड कार्यालय में पदाधिकारियो के दुवरा लाभुकों को आश्वासन दिया जाता है कि आप के खाते में ही वृद्धा पेंशन की राशि भेज दी  जाएगी, लेकिन  अभी तक राशि नहीं भेजे जाने के कारण लाभुकों में त्राहिमाम है. उधर भतरंधा परमानपुर के जनप्रतिनिधियों ने इस की सूचना प्रखंड विकास  पदाधिकारी घैलाढ को कई बार दिया है, पर नतीजा शून्य है. ऐसे में कितनी कामो देवी की इहलीला पेंशन की आस में ख़त्म हो जाएगी, कोई नहीं जानता.
(रिपोर्ट: लालेंद्र कुमार)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...