23 सितंबर 2016

मधेपुरा के कुख्यात गजेन्द्र पंडित समेत हथियार के साथ पांच अपराधी सुपौल में गिरफ्तार

सुपौल। अपराध की योजना बना रहे पांच अपराधियों को पुलिस ने हथियार के साथ गिरफ्तार किया है, जिसमें राघोपुर थाना के सिमराही बाजार में व्यवसायियों को धमकी देकर रंगदारी के रुप में रकम मांगने वाले गिरोह के सरगना मास्टर माइंड अनिल साह एवं उनके साथी कुख्यात अपराधी गजेन्द्र पंडित, सुखराम मेहता, जयप्रकाश मुखिया एवं टुनटुन मेहता शामिल हैं.
     मालूम हो कि कुछ दिन पूर्व सिमराही बाजार के तीन अलग-अलग व्यवसायियों को कुख्यात अपराधी संतोष मेहता का नाम लेकर फोन से रंगदारी की मांग की गयी थी. साथ ही व्यवसायियों को रंगदारी की रकम नहीं देने पर जान से मारने की धमकी भी दिया गया था. थाना में मामला दर्ज कराने के साथ ही पुलिस के लिये अपराधियों को गिरफ्त में लाना एक बड़ी चुनौती बनी हुई थी. पुलिस अधीक्षक डॉ कुमार ऐकले के नेतृत्व में जिले भर के पुलिस पदाधिकारी का टीम गठित कर साइंटिफिक तरीकों से सघन जांच एवं अपराधी को गिरफ्त में लेने के लिये सघन छापेमारी प्रारंभ किया गया.
          पुलिस अधीक्षक डॉ कुमार ऐकले ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि अपराधी जो भी हो किसी भी कीमत पर उन्हें बख्शा नहीं जायेगा. अपराधी की धड़ पकड़ को लेकर जिले भर की पुलिस समुचित तरीके से कार्य कर रही है. कहा कि कुछ अपराधी अब भी पुलिस की चंगुल से बाहर है, जिसके लिए टीम के सदस्यों सहित थाना पुलिस द्वारा बेहतर तरीके से कार्य किया जा रहा है. जल्द ही ऐसे अपराधी पुलिस के गिरफ्त में होंगे.
     डॉ ऐकले ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी गजेंद्र पंडित मधेपुरा जिला का निवासी है. गजेंद्र पंडित के ऊपर सुपौल, मधेपुरा, सहरसा सहित अन्य जिले में करीब दो दर्जन से अधिक मुकदमा दर्ज है. इतना ही नहीं दर्ज मुकदमा में करीब आधा दर्जन मुकदमा ह्त्या का है. एसपी डॉ ऐकले ने कहा कि वर्षो पहले सुपौल न्यायालय में पेशी के दौरान गजेंद्र पुलिस को चकमा देकर भाग निकला था.
     वहीं अपराधी सुखराम मेहता नेपाल के माओवादी संगठन गिरोह के कमांडर रह चुका है. इनके ऊपर सुपौल जिला सहित अन्य जिलों में दर्जन भर मुकदमा चल रहा है. जिसमे तकरीबन तीन से चार मुकदमा ह्त्या, अपहरण सहित अन्य मामले से संबंधित है. एसपी ने बताया कि सुखराम मेहता और अनिल साह ने संतोष मेहता का नाम लेकर सिमराही के व्यवसायियों से रंगदारी की मांग किया था. उन्होंने यह भी बताया कि जिस नंबर से रंगदारी की मांग की गयी थी उक्त नंबर के सिम भी तलाशी के दौरान इन दोनों के पास से बरामद किया गया है. पुलिस ने गिरफ्तार अपराधी के पास से पांच मोबाइल फोन, दो देसी कट‍्टे, आठ ज़िंदा कारतूस व विभिन्न नंबर के करीब आधा दर्जन सिम कार्ड सहित एक नैनो कार बरामद किया गया है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...