05 सितंबर 2016

‘गणपति बप्पा मोर्या’ की गूँज के साथ बाबा की नगरी में हुआ गणेश महोत्सव शुरू

मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर के राम जानकी ठाकुरबाड़ी में गणेश महोत्सव का आगाज करते हुऐ प्रखंड प्रमुख चंद्र कला देवी ने कहा कि गणपति जी के बिना किसी काम का श्री गणेश नहीं होता है. विघ्नकर्ता के पंडाल में प्रमुख ने नारियल फोड़ कर पूजा  का शुभारम्भ किया और दीप जलाकर गणेश महोत्सव का उदघाटन किया.     
        उद्घाटन से पहले शोभा यात्रा और झांकी निकाली गई थी, जिसमें स्थानीय श्रृद्वालु पुरुष और महिलाओं ने बड़ी संख्यां में हिस्सा लिया. हालांकि बारिश ने शोभा यात्रा में शामिल श्रद्धालु और आयोजकों को परेशान करने में कोई कमी नही रखा और पानी तथा कीचड़ में श्रद्धालुओं को आने जाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. हुई परेशानी के बावजूद आस्था सर चढ़ कर बोली और श्रद्धालु विघ्न विनाशक के दर्शन के लिये सभी विध्न को पार करते हुऐ पूजा स्थल पर पहुंचे. पवित्र राम जानकी ठाकुरबाडी में श्रृदालुओ को पानी-कीचड़ के साथ साथ यत्र तत्र बिखरे कचड़े के कारण भी परेशान होना पड़ा. कीचड़ और जल जमाव के कारण झांकी और कलश यात्रा मंदिर परिसर से निकालना पड़ा.
     झांकी बाबा मंदिर से होकर महावीर चौक होते हुऐ मुख्य मार्ग से दुर्गा चौक पहुंची और उसके बाद वापस गणेश महोत्सव स्थल पहुंची. झांकी में सनसाईन स्कूल और किड्स वर्ल्ड के बच्चों ने भाग लिया. उदघाटन के बाद गणेश जी द्वारा दिये जा रहे लडडू के लिये श्रद्धालुओं की लंबी कतार लग गई. महा प्रसाद का वितरण देर शाम तक चलता रहा.
    मौके पर युवा संघ के कार्यकर्ता, पंकज भगत, दिलीप खंडेलवाल, पूर्व उप प्रमुख राजेश रंजन, पूजा समिति के अध्यक्ष संतोष चौधरी, सुभाष राम, राजेश कुमार राजू, बादल भगत,  इंन्द्रदेव स्वर्णकार, संजीव भगत, शंकर अग्रवाल, अनुराग चौधरी, लक्ष्मण दास, संतोष चौधरी, प्रधान कुमार, राज कुमार, अमित रंजन आदि मौजूद थे.
    इधर मधेपुरा इला मुख्यालय में पुरानी कचहरी बड़ी महावीर स्थान के परिसर में भी गणेश महोत्सव आज शुरू हुआ जिसमें संध्या आरती में महिलाओं और पुरुषों की बड़ी भीड़ मौजूद थी.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...