14 सितंबर 2016

मधेपुरा: मुरलीगंज के बेंगा नदी में जलवृद्धि के कारण कई वार्ड जलमग्न, लोगों ने किया सड़क जाम, पहुंचे जिलाधिकारी

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज नगर पंचायत में बेंगा नदी में जल वृद्धि के कारण वार्ड नंबर 2 और वार्ड नंबर 3 में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है. लोगों के घरों में पानी घुस आया है. पीड़ित परिवार के लोगों ने आज सुबह 9:00 बजे से ही बेंगा नदी पुल पर यातायात अवरुद्ध कर अपनी समस्या के लिए विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया.
       जाम कर रहे लोगों के बीच अफरोज आलम ने बताया कि हम लोग के घरों में आज 5 दिनों से पानी लगा हुआ है. नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी या नगर अध्यक्ष सुधि लेने तक के लिए नहीं आई वार्ड नंबर 1, 2, 3, 4 और 8 बुरी तरह से जलजमाव से ग्रसित है. जलजमाव वाले क्षेत्र में कई कच्चे मकान गिर चुके  हैं और हमें अभी तक प्रशासन की ओर से कोई राहत सामग्री उपलब्ध नहीं करवाई गई है. लोगों के वार्ड नं. 2 और 8 को बाढ प्रभावित क्षेत्र घोषित करने की मांग करते हुए नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी और मुख्य पार्षद के खिलाफ नारेबाजी भी की.
       प्रभावित इलाकों में सबसे ज्यादा बुरी स्थिति कृष्णानगर वार्ड नंबर दो और बेंगा नदी के किनारे बसे आदर्श नगर वार्ड नं. 8 की है. इनमें करीब 600 लोगों की आबादी चारों ओर से जलजमाव से घिरी हुई है.
      जाम की खबर सुनकर जाम छुडवाने आए अनुमंडल पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को पीड़ितों ने यह कहकर लौटा दिया कि जब तक कि हम लोगों की समस्या का समाधान नहीं किया जाता है, तब तक हम लोग इसी तरह डटे रहेंगे. अंचलाधिकारी मुरलीगंज ने जे सी बी की व्यवस्था कर डायवर्सन को हटवाने का काम प्रारंभ किया.
    मौके पर जिलाधिकारी मो. सोहैल ने खुद पहुंचकर अपने देखरेख में काम प्रारंभ करवाया. जैसे ही जिलाधिकारी पहुंचे अनुमंडल पदाधिकारी संजय कुमार निराला, मुरलीगंज प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं मुरलीगंज थानाध्यक्ष ने मौके पर पहुंचकर सहयोग देना प्रारंभ किया. जिलाधिकारी ने घंटों खड़े रहकर अपने निर्देशन में डायवर्शन को हटवाने का काम जारी रखा. पीड़ितों को हर संभव सहायता देने की बात पर लोगों ने जाम समाप्त किया. 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...