11 सितंबर 2016

डायरिया की शिकार बच्ची की मौत, परिजनों का सरकारी अस्पताल पर लापरवाही के आरोप

मधेपुरा के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत भतखोरा पंचायत के मुसहरनियाँ रही महादलित टोला में पिछले 12 दिनों से जारी डायरिया के कहर ने आखिर एक बच्ची को मौत दे दी. 4 वर्षीय ज्योति कुमारी की मौत कल देर शाम उस समय हो गई जब गंभीर होने पर उसे सदर अस्पताल मधेपुरा में भर्ती कराया गया था और मामूली इलाज के बाद उसे वापस घर लाया जा रहा था.
    मिली जानकारी के अनुसार मुसहरनियाँ रही महादलित टोला वार्ड नं. 6 में जहाँ पहले आधा दर्जन लोग डायरिया के कहर से त्रस्त थे वहीं अब संख्यां बढ़कर ढाई दर्जन हो चुकी है. पहले सबों को मुरलीगंज के प्राथमिक चिकित्सा केंद्र में भर्ती कराया गया था जहाँ उपचार के बाद वे सभी अपने-अपने घरों को चले गए थे. मृतका ज्योति कुमारी के पिता संजय ऋषिदेव कहते हैं कि कल जब उनकी बेटी और कुछ अन्य मरीजों की स्थिति अचानक बिगड़ी तो उन्हें ऑटो से सदर अस्पताल मधेपुरा लाया गया जहाँ चिकित्सक ने उनका मामूली इलाज कर ठीक बता कर वापस घर जाने को कहा. पर ऑटो से लौटते समय रास्ते में ही ज्योति ने दम तोड़ दिया. उनका आरोप है कि चिकित्सकों ने इलाज में लापरवाही बरती है.
    जो भी हो, ज्योति की मौत से मुसहरनियाँ रही महादलित टोला में भय का वातावरण व्याप्त हो गया है और लोगों को अब इस बात की आशंका सताने लगी है कि यदि सरकारी स्तर पर सही इलाज नहीं हुआ तो और भी जानें जा सकती है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...