15 सितंबर 2016

‘कुलपति डॉ. विनोद कुमार का कार्यकाल BNMU का काला अध्याय’: आन्दोलन 15वें दिन

मधेपुरा का भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय फिर से आंदोलन की जगह बनकर रह गई है. पिछली बार कुछ ही दिन पहले यहां आमरण अनशन के बाद कुलपति डॉ विनोद कुमार ने छात्रों के साथ कई वायदे किए थे पर समस्याओं के बावत निर्धारित समय में कोई प्रगति नहीं होने पर छात्र संगठनों ने दुबारा आंदोलन का रास्ता अख्तियार किया है.
    दूसरे चरण के आंदोलन में आज 15 वें दिन छात्र संगठन के विभिन्न नेताओं ने कुलपति और विश्वविद्यालय प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. NSUI के प्रदेश महासचिव मनीष कुमार ने वर्तमान कुलपति डॉ. विनोद कुमार के कार्यकाल को BNMU का काला अध्याय बताया. उन्होंने कहा कि अब सब्र की हर सीमा टूटने लगी है. अपनी कमियों को छुपाने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन कोई सकारात्मक पहल नहीं कर रही है. कहा कि वर्तमान कुलपति अंग्रेजों के बाद के सबसे अत्याचारी शासक बनकर रह गए हैं.
     वही AISF के राष्ट्रीय सचिव हर्षवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि छात्र संगठन के आंदोलन पर सकारात्मक पहल नहीं कर विश्वविद्यालय प्रशासन एक बड़ी गलती कर रहा है. आगे के चरण में सभी जिलों में इस इन मुद्दों पर आंदोलन किया जाएगा और कुलपति व रजिस्ट्रार दोनों के कार्यालय व आवास में तालाबंदी आंदोलन को तेज किया जाएगा. श्री राठौर ने चेतावनी दी कि कुलपति सहित विश्वविद्यालय के पदाधिकारी मुख्यालय सकारात्मक पहल नहीं करते हैं तो विश्वविद्यालय के खिलाफ 19 सितंबर से फिर से अनशन शुरु किया जाएगा.
          अब देखना है कि आंदोलन आगे कौन सा रूप लेती है और विश्वविद्यालय कब सुधार की राह पर चलता है?
(नि.सं.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...