19 अगस्त 2016

मधेपुरा: फुटपाथ दुकानदारों ने किया आज दुकानों को बंद, कल धरना प्रदर्शन

फुटपाथ दुकानदार जिला संघ मधेपुरा के अध्यक्ष ने प्रेस विज्ञप्ति दे कर जानकारी दी है कि नगर परिषद और जिला प्रशासन की गलत नीति के कारण शहर के 786 फुटपाथ विक्रेता का परिवार भुखमरी के कगार पर पहुँच गया है.
       फुटपाठ दुकानदारों ने कहा कि नगर परिषद और जिला प्रशासन उच्चतम न्यायालय और राज्य सरकार के आदेशों को ताक पर रख कर फुटपाथ विक्रेताओं के रोज़ी रोटी से खिलवाड़ कर रही है. उनका कहना है कि जिला पदाधिकारी द्वारा एक वर्ष पूर्व ही टाउन भेन्डिंग कमिटी का गठन किया गया जिसके द्वारा शहर मॆ फुटपाथ विक्रेताओं का सर्वेक्षण का काम शुरू हुआ लेकिन एक साल बीतने बाद भी सरकारी और न्यायालय के आदेशानुसार उनको परिचय पत्र नही दिया गया और ना ही शहर मॆ भेडिन्ग जोन बनाया गया. नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी सर्फ़ बैठक पर बैठक करते है लेकिन आज तक कोई निर्णय नही हुआ.
      फुटपाथ दुकानदारों का कहना था कि नगर परिषद और जिला प्रशासन द्वारा फुटकर विक्रेताओं  को अतिक्रमण के नाम पर हटाना उनकी जीविका वंचित करने के समान है. इस लिये अपनी मांगो को लेकर दिनांक 19 अगस्त 2016 से हम फुटकर विक्रेता चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर रहे हैं. इसके तहत आज सभी फुटपाथ दुकानों को बंद कर कल 20 अगस्त 2016 को नगर परिषद कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा. यदि प्रशासन हमारी माँगे पूरी नही की तो हम आगे उग्र आंदोलन करेंगे.
     इस मौके फुटपाथ विक्रेता के सचिव चंदेश्वरी मंडल और कार्तिक मंडल, मो० तौकिर, ब्रजेश कुमार, राहुल कुमार, मो० फिरोज आलम, भुवनेश्वर साह, सिन्टु ठाकुर, ओम प्रकाश, कमरूद्दीन, मो० इरशाद, संतोष कुमार आदि ने भाग लिया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...