02 अगस्त 2016

मधेपुरा: धूमधाम से मनाई गई प्रेमचंद की 136 वीं जयंती

भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा), मधेपुरा द्वारा महान कथाकार प्रेमचंद की 136 वीं जयंती बीपी मंडल नगर भवन में धूम-धाम से मनाई गई. इस मौके पर मधेपुरा इप्टा का 16 वां शाखा सम्मलेन भी संपन्न हुआ.
    जयंती के मौके पर स्कूली बच्चों द्वारा चित्रकारी प्रतियोगिता और प्रेमचंद रचित कहानी सद्गति का मंचन भी किया गया. जयंती समारोह के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन जिला पदाधिकारी मो. सोहैल ने किया. अपने उद्घाटन संबोधन में उन्होंने कहा कि प्रेमचंद ने अपने साहित्य में जहाँ सामंतवाद और पूंजीवाद को बेनकाब किया हैं, वहीँ भारत की गंगा-यमुनी संस्कृति कि गहराई को उकेरा है. प्रेमचंद की रचना हमारे समाज कि हकीकत को बयां करती है.
      मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने प्रेमचंद के जयंती पर आयोजित इप्टा के कार्यक्रम की सराहना की. विशिष्ट अतिथि बिहार इप्टा के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रो. सचिंद्र ने कहा कि गोर्की के सपने को रूस में लेनिन ने साकार रूप प्रदान किया. लेकिन भारत आज भी उस महामानव की तलाश में है जो प्रेमचंद के सपने को साकार कर सके. उद्घाटन सत्र को विशिष्ठ अतिथि के रूप में इप्टा के संरक्षक डॉ. भूपेंद्र मधेपुरी, हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. इन्द्र नारायण यादव आदि ने भी संबोधित किया.
    उद्घाटन सत्र के बाद स्कूली बच्चों के बीच हुए चित्रकारी प्रतियोगिता में सफल प्रतिभागियों को इप्टा प्रदेश उपाध्यक्ष प्रो. सचिंद्र, संरक्षक डॉ. भूपेंद्र “मधेपुरी”, चन्द्रिका यादव, निरंजन कुमार, आदि के हाथों प्रतीक चिन्ह और प्रमाणपत्र प्रदान किया गया. चित्रकारी प्रतियोगिता में माया विद्या निकेतन की छात्रा प्रशस्ति प्रथम, रीमा दूसरा स्थान ग्रहण की जबकि तीसरे स्थान पर सेंट विलियम्स की छात्रा सीमा सिंह रही. सबसे कम उम्र के प्रतिभागी किड जी के आदित्य और एसएनपीएम +२ विद्यालय की छात्रा शशि त्बशुम को उत्साहवर्धन पुरष्कार से सम्मानित किया गया.
    पुरस्कार वितरण समारोह के बाद इप्टा के संरक्षक संजीव कुमार और के द्वारा कई गीत प्रस्तुत किये गए और मधेपुरा इप्टा के कलाकारों द्वारा प्रेमचंद रचित कहानी और सुभाष चंद द्वारा निर्देशित सद्गति का मंचन किया गया. इस नाटक में रितेश, अमरदीप, नितेश, अमित, सोनू, अंजलि, नेहा, बबलू, विजय, मणिशंकर, संतोष आदि ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जबकि पूजा, ईशा,अनु, निशा, मनीषा  आदि द्वारा मिथिला की लोक नृत्य झिझिया की भी प्रस्तुति की गई. कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन इप्टा के अध्यक्ष डॉ. आलोक कुमार ने किया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...