14 अगस्त 2016

छात्रों के लिए घटिया तो शिक्षकों ने अपने लिए बनवाई शानदार शब्जी: जिप सदस्य की जांच में मास्टर साहबों की खुली पोल

मधेपुरा जिले में दो महत्वपूर्ण क्षेत्र स्वास्थ्य और शिक्षा का हाल लाख प्रयास के बाद भी बेहाल है. जिले के सिंहेश्वर प्रखंड के जिप सदस्य सूरज कुमार सिंह के क्षेत्र भ्रमण के दौरान स्वास्थ्य और  शिक्षा विभाग की कलई पूरी तरह खुल कर रह गई.
    मिली जानकारी के अनुसार श्री सिंह ने क्षेत्र में घूम-घूम कर लोगों की समस्याओं को सुना. उन्होंने इस दौरान एपीएचसी (अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र) को बंद देखा. एपीएससी के बाहर बरामदे में घास का बोझा और कमरे में लकड़ी रखा हुआ था. स्वास्थ्य विभाग की हालत देख जिप सदस्य सूरज सिंह ने कहा कि प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से बात कर स्वास्थ्य केंद्र को सुचारू रूप से चलाया जाएगा. वहीं लोगों ने पीएचसी के चिकित्सक के द्वारा स्वास्थ्य केन्द्र के जमीन को सब्जी उपजाने के लिए भाड़ा पर देने की शिकायत की.
      प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. डी एन चौधरी ने बताया कि चिकित्सक की कमी के कारण एपीएचसी का काम बाधित हो रहा था. सावन में मंदिर परिसर में एक चिकित्सकों की टीम तैनात है, सावन के बाद डा. जय कृष्ण कुमार को प्रत्येक सोमवार और शनिवार के लिए प्रतिनियुकत कर दिया गया है.
      दूसरी तरफ उ. उ. वि. बरहडी में बिजली होते हुए एक भी पंखा नही रहने से छात्रों को भीषण गर्मी में बैठना पड़ रहा था. वही प्रा. वि. सिरसिया और म. वि कमरगामा  में तो शिक्षकों ने कमाल करते हुए छात्रों के लिए पानी वाला सब्जी और अपने लिये अलग से शानदार सब्जी बनवाया था. बता दें कि मधेपुरा में जिलाधिकारी तक मध्यान्ह भोजनकी जांच के दौरान बने खाना को बच्चों के साथ बैठकर खा रहे हैं ताकि भोजन का स्तर बेहतर हो सके. जबकि कमरगामा में प्रभारी शिक्षक प्रभु कुमार ने नामांकित बच्चों के नाम काटने के सवाल पर बताया कि एक सप्ताह नही  आने वाले छात्रों का  नाम नामांकन पंजी से हटा दिया जाता है. इसी विधालय में एनपीएस बसनाहा टोला का विद्यालय  भी चलता है. दोनों विद्यालय के एचएम के नही आने के वाबजूद हाजरी बनी हुई थी.
     गत मंगलवार को किये इस निरीक्षण के बावत बीईओ यदुवंश प्रसाद ने कहा इस संबंध में जानकारी के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी. वही ग्रामीणों ने  आंगनबाड़ी केंद्र 08 के सेविका ने मुखिया के रिश्तेदार होने के कारण आंगनबाड़ी केंद्र अपने घर पर ही चलाने का आरोप लगाया.  
    मौके पर कमरगामा के पंसस शंभू मंडल, सरपंच योगानंद भारती,  अरूण कुमार सिंह, रंजीत सिंह, शशि भूषण सिंह, विभूति सिंह, मनी भूषण सिंह, रितेश कुमार सिंह, कुंदन सिंह, झमेली ऋषिदेव, आर्दश कुमार सिंह, मनोरंजन सिंह, कई वार्ड सदस्य सहित सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...