05 अगस्त 2016

गुरु बना जल्लाद: 16 घंटे तक जंजीर में कैद रखा अबोध को

सुपौल। बिहार के सुपौल में एक निजी स्कूल के गुरूजी की हैवानियत सामने आयी है. गुरू और शिष्य के रिश्ते को कलंकित करते हुए गुरू ने अपने एक अबोध शिष्य को छोटी सी गलती की इतनी बड़ी सजा दी है कि जानकार लोगों के रोंगेटे खड़े हो रहे हैं.
     विद्यालय से पाठयपुस्तक भरा बैग घर ले जाने के जुर्म में क्रूर गुरू ने मासूम को 16 घंटे कड़ी से बांध कर एक कमरे में बंद रख कर सजा दी है. यह घटना निर्मली नगर पंचायत स्थित आवासीय हंस वाहिनी विद्यासागर विद्यालय की है, जहां यूकेजी के एक छात्र को उसकी मामूली सी गलती को लेकर विद्यालय के प्राचार्य ने उसके दोनों पैर को एक जंजीर मे दो ताले लगाकर लॉक कर दिया.
    गुरुवार की सुबह छह बजे पीड़ित छात्र अपने स्कूली बैग में अपना किताब रख घर जाने की तैयारी में था. इसी बीच स्कूल के प्रिंसिपल की नजर उस पर गयी और उसने राजीव की पहले जमकर छड़ी से पिटाई कर दी. जिसके बाद उसके दोनों पैर को ताले में जकड़ कर एक कमरे में बंद कर दिया. अबोध छात्र कमरे में रोता और बिलखता रहा लेकिन इस हैवानियत हरकत को रोकने की किसी ने जरुरी भी नहीं समझा. परन्तु किसी ने कमरे को खोल दिया.
    बता दें कि सुबह साढ़े छह बजे से शाम छह बज गए,  छह बजे संध्या प्रार्थना की घंटी बजी और बेहोश पड़ा छात्र होश में आया. खुद को जंजीर में बंधा छात्र अंधेरा के समय मौका देखते ही वहां से सरकते-सरकते लगभग आधा किलोमीटर दूरी तय करते हुए अपनी बड़ी मां गायत्री प्रकाश (जिला परिषद् उपाध्यक्ष सुपौल) के निर्मली स्थित आवासीय परिसर लगभग 9 बजे रात्रि में पहुंच गया.
    जंजीर में बंधा और घुठने से लहू-लहान इस अबोध छात्र को देख जिला परिषद् उपाध्यक्षा के आवासीय परिसर में मौजूद लोगों के होश उड़ने लग गए  इस वारदात को लेकर स्कूल के निदेशक राम प्रकाश साह को बुलाया गया. निदेशक ने किसी तरह उपाध्यक्षा से वारदात को भुलाने और माफ करने को लेकर मान-मनोवल कर ही रहे थे कि सूचना पर छात्र के पिता रवीन्द्र कुमार यादव वहां पहुंच गए और आक्रोश व्यक्त करने लगे. पीड़ित छात्र के पिता के आक्रोश को देख वहां से निदेशक भी मौका पाकर निकल गए। वहीं, पीड़ित छात्र के पिता ने घटना की सूचना पुलिस अधिकारी व सामान्य प्रशासन को देकर न्याय की गुहार लगाई है. बता दें कि पीड़ित छात्र के पिता हैवानियत की हद पार किये शिक्षक के खिलाफ कठोर कार्रवाई की बात पर अड़े हुए हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...