28 अगस्त 2016

'इंसानियत की पगड़ी जनता ने पहनाया': सरपंच बीबी रबिया खातून

पंचायत के जनप्रतिनिधि जब अपनी जबावदेही समझना आरंभ कर देंगे, तो जनता की समस्या का समाधान भी निकलना खुद व खुद शुरू हो जाएगा और घंटो का काम मिनटो में निकलना आरंभ हो जाएगा. साथ हीं कोर्ट, थाना आदि में बेवजह केस पर भी ब्रेक लगेगा और समाज में सोहार्द कायम होगा. 
     ग्राम पंचायत का स्वरूप लागू होने के बाद कुछ पंचायतो में यह कार्य सफलीभूत भी होने लगा है. मधेपुरा जिले के बिहारीगंज के हथिऔंधा पंचायत में न्याय का नया स्वरूप लोगों को अब दिखने लगा हैं. सप्ताह में दो दिन बु़धवार एवं शनिवार को सरपंच की कचहरी लगती है, जिसमें फरियादी अपनी फरियाद, अपनी समस्या समेत तमाम तरह की बातों को रखते हैं और उनका समाधान सरपंच व समाज के प्रबुद्धजन करते है. शनिवार को लगे उक्त ग्राम कचहरी में दर्जनो मामले आए जिसका निपटारा खुद सरपंच की उपस्थित में किया गया. सरपंच बीबी रबिया खातून का कहना था कि उन्हें इंसाफ करने के लिए इंसानियत की पगड़ी जनता ने पहनाया है, उसके साथ हर हाल में न्याय होगा. चाहे वह सड़क, नाला, इंदिरा आवास, मनरेगा या किसी भी विभाग से क्यों न जुड़ा हो, उसे वे गंभीरता से लेंगी. इसके अलावे भ्रष्टाचार पर अंकुश हर मामले में न्याय करने की बात कही.
      इस मौके पर पंच मो. मुख्तार अली, मो.अयूब खान, बीबी सजीदा, सुशीला देवी, उर्मिला देवी, आशा देवी, बीबी हीना, उपसरपंच नईम साह के अलावे समाज सेवी मो०  सुभान, न्याय मित्र गोपाल कृष्ण मेहता, सचिव प्रकाश चौरसिया समेत अन्य फरियादी उपस्थित थे.
(रिपोर्ट: रानी देवी) 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...