09 जुलाई 2016

बदमाशों ने बाल पहरेदार को बंधक बना लाखों के बिजली तार लूटे

सुपौल जिले के किसनपुर थानाक्षेत्र अंतर्गत कलिमुंगरा गांव के समीप एलएनटी कंपनी द्वारा विधुत टावर निर्माण कार्य स्थल से हथियार से लैश बदमाशों ने दो बाल पहरेदारों को बंधक बनाते हुए लाखों रुपए कीमत के बिजली तार लूटने की घटना को अंजाम दिया. जबकि घटना की सूचना पर मधुबनी जिले के झंझारपुर थाने की पुलिस ने एनएच-57 होकर भाग रहे अपराधियों को लूटी गई बिजली तार के साथ रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया है.
     जानकारी के अनुसार शुक्रवार को  किसनपुर थानाक्षेत्र स्थित एनएच-57 के किनारे टॉल प्लाजा के समीप से चाकू व अन्य हथियार का भय दिखाते हुए साढ़े चार टन बिजली तार सहित ड्राम को लूट लिया. साक्ष्यदर्शी बाल पहरेदारों के मुताबिक तीन वाहन से 8 की संख्या में पहुंचे बदमाशों ने सर्वप्रथम पहरेदार को बंधक बनाया और जेसीबी से ट्रक पर बिजली तार लोड कर भाग निकले.
      घटना को लेकर झंझारपुर थानाध्यक्ष ने मोबाइल पर जानकारी देते हुए बताया कि मामले के मद्देनजर पुलिस कार्रवाई में जुट गई है. एक तरफ झंझारपुर थाने की पुलिस को ससमय सफलता तो मिल गई. लेकिन अब यहां सवाल यह उठ रहा कि आखिर बाल मजदूरी के तहत पहरेदार क्यों? और जब वहां पुलिस बलों के द्वारा रात में दूर-दूर तक गश्ती नहीं हो तो ऐसे में बदमाशों के द्वारा ऐसी घटना को अंजाम देना कोई आश्चर्य की बात नहीं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...