17 जुलाई 2016

कहर शुरू: पहले रिकॉर्डतोड़ जलस्तर वृद्धि में कोसी ने 250 घरों को लीला, हाहाकार

नेपाल में हो रहे मूसलाधार बारिश की वजह से कोसी नदी के जलस्तर में रिकॉर्डतोड़ वृद्धि हुई है, बता दें कि शनिवार की शाम में कोसी बराज से इस वर्ष सवार्धिक 2 लाख 33 हजार क्यूसेक जल डिस्चार्ज रिकॉर्ड दर्ज की गई. इससे सुपौल में एक बार फिर कोसी नदी उफना गई है और बाढ़ प्रभावित अति संवेदनशील मरौना प्रखंड के दर्जनों गांव एवं सैकड़ों घरों में पानी घुस गया है.
     बाढ़ को लेकर सशंकित प्रभावित परिवार के लोग शनिवार की रात से ही उंचे स्थानों के लिए पलायन कर रहे हैं, जबकि प्रशासनिक स्तर पर इलाके में कोई भी सटीक इंतजाम नहीं दिख रहा है. लिहाजा रातभर पानी में समय बिताये लोगों में बाढ़ को लेकर दहशत व्याप्त है. लगातार बारिश की आशंका को देखते हुए कोसी नदी कें जलस्तर में वृद्धि का भय सता रहा है. 
        बता दें कि मरौना प्रखंड के घोघरड़िया, खोखनाहा, बेला, लक्ष्मिनियां, मेनहा, तुलसियाही, सिसौनी छिट सहित दर्जनों गांव में बाढ़ अपना कहर बरपा रहा है और करीब 250 घर विलीन होने की जानकारी मिल रही है.  लोगों में त्राहिमाम मचा हुआ है. लेकिन जलसंधान विभाग के द्वारा इन प्रभावितों के लिए कोई भी व्यवस्था अबतक मुक्कमल नहीं की गई है. सुपौल के एडीएम आपदा भले कहते हैं कि प्रभावित क्षेत्रों में सरकारी स्तर पर 7 नाव भेजे गए हैं, पर मधेपुरा टाइम्स के संवाददाता ने प्रभावित स्थल से वापस आकर बताया कि मौके पर सिर्फ एक नाव ही कार्यरत थी. जाहिर है कोसी के कहर से सामने प्रशासनिक व्यवस्था फिलहाल ऊंट के मुंह में जीरा है.
वीडियो में देखें गाँव की तबाही, यहाँ क्लिक करें.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...