12 जुलाई 2016

पुलिस के खिलाफ फूटा व्यवसायियों का गुस्सा, वीरपुर बाजार पूरी तरह बंद

सुपौल जिले के वीरपुर के दो व्यवसायियों पर हुए जानलेवा हमले से आक्रोशित स्थानीय दुकानदारों ने मंगलवार को वीरपुर बाजार को पूरी तरह बंद रखा. बंद के दौरान व्यवसायी एवं स्थानीय लोग वीरपुर थानाध्यक्ष के तबादले एवं आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. बाजार बंद की वजह से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त रहा.
      अनुमंडल क्षेत्र में बढ़ते अपराध व पुलिस की निष्क्रियता से आक्रोशित दुकानदारों द्वारा आहूत बंद के दौरान अधिकांश दुकानदारों ने स्व स्फूर्त अपनी दुकानें बंद रखी. पुलिस प्रशासन के प्रति व्यवसायियों का आक्रोश स्पष्ट दिख रहा था. मौके पर व्यवसायियों के एक शिष्टमंडल द्वारा अनुमंडल पदाधिकारी को मांगों से संबंधित एक ज्ञापन भी सौंपा गया.
     सौंपे गये ज्ञापन में तीन दिनों के भीतर आरोपियों की गिरफ्तारी एवं थानाध्यक्ष के तबादले की मांग की गयी है.व्यवसायियों ने कहा है कि यदि निर्धारित समय सीमा के भीतर कार्रवाई नहीं की जाती है तो 16 जुलाई से अनिश्चित काल के लिए बाजार को पूरी तरह बंद रखा जायेगा.
           गौरतलब है कि रविवार की रात घटित दो अलग-अलग घटनाओं में अज्ञात अपराधियों ने घात लगा कर बाजार क्षेत्र के दो व्यवसायी संतोष कुमार एवं सुशील प्रसाद गुप्ता पर जानलेवा हमला किया था. अपराधियों द्वारा चलायी गयी गोली से संतोष कुमार नामक व्यवसायी गंभीर रूप से जख्मी हो गये. प्राथमिक उपचार के बाद जख्मी व्यवसायी को बेहतर इलाज के लिए बाहर रेफर किया गया. जहां वे जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे है. वहीं दूसरी घटना में किराना व्यवसायी सुशील प्रसाद गुप्ता पर भी अपराधियों के द्वारा आरा मील के समीप लोहे के रड से जानलेवा हमला किया गया. अनुमंडलीय अस्पताल में उपचार के बाद जख्मी व्यवसायी का उपचार विराटनगर स्थित अस्पताल में चल रहा है.
     इन्हीं दोनों घटनाओं से आक्रोशित स्थानीय व्यवसायियों द्वारा वीरपुर बंद का आह्वान किया गया था.
                  इस बाबत थानाध्यक्ष पवन कुमार ने बताया कि घटना में शामिल अपराधियों को शीघ्र ही गिरफ्तार किया जायेगा. बताया कि अपराधियों के धड़-पकड़ हेतु थाना क्षेत्र में लगातार छापेमारी की जा रही है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...