17 जुलाई 2016

पहले डॉक्टर ने की अवैध वसूली, फिर बदसलूकी कर गर्भवती को अस्पताल से निकाला

मधेपुरा जिले आलमनगर प्राथमिक स्वस्थ्य केन्द्र में मानवता को तार-तार करते हुए उपचार कराने के लिए आये रोगी के साथ अवैध वसूली के बाद परिजनों द्वारा पूछताछ करने के पर डाक्टर के द्वारा गाली-गलौज करते हुए धक्कामुक्की के साथ-साथ प्रसव कराने आई महिला को जबरन अस्पताल के वार्ड से निकालने की बात सामने आई है.
    इस घटना को लेकर पीड़िता के ससुर राधे राय के द्वारा थानाध्यक्ष को दिए आवेदन में बताया गया है कि दिनांक 12-7-2016 को मेरी पुत्रवधू देवता देवी पति अभिनन्दन राय को प्रसव पीड़ा उत्पन्न हुई तो रात्रि 10 बजे उपस्वास्थ्य केन्द्र आलमनगर में भर्ती कराया. उस समय डा० आनन्द कुमार मिलन एवं डा० अमित कुमार अस्पताल में उपस्थित थे. उक्त डाक्टर ने प्रसव पीड़ीता का जांच किया और दवाई तथा पानी का बोतल बाहर से खरीदवाकर मुझसे मंगवाया. किन्तु उक्त दवाई से पीड़ीता को कोई राहत नहीं मिलते देख डाक्टर आनंद कुमार मिलन ने प्रसव कराने के लिए रोगी को खून चढ़ाने की बात कही, जिसमें 10 हजार रूपया अविलंब जमा करने के लिए कहा. जिसपर मैंने रात्रि के दो बजे 10 हजार रूपया डॉ. मिलन के हाथ में दे दिया एवं 13-7-16 को 10 बजे दिन में खून डाक्टर के द्वारा चढ़ाया गया  किन्तु रोगी का स्थिति बिगड़ती चली गई.
        आगे आरोप लगाया गया कि जिससे घबराकर पुनः 14-7-16 को सुबह डाक्टर से कहा तो डाक्टर मिलन ने कहा कि ऑपरेशन कर बच्चा निकाला जायेगा अन्यथा बच्चा-जच्चा दोनों के जान की खतरा है. मांगने पर पुनः सुबह करीब 9 बजे डाक्टर मिलन को 25 हजार रूपया दिया. उक्त रूपया लेकर डाक्टर मिलन  अपने आवास चले गये एवं 12 बजे दिन जब अस्पताल आया तो रोगी की बिगडती हालत बताया एवं अविलम्ब ऑपरेशन करने की प्रार्थना किये तो डाक्टर नशे की अवस्था में थे और मुझे गाली गलौज करते हुए धमकी देने लगे और भद्दी-भद्दी गाली देते हुए  कहने लगे कि अब हम तुम्हार इलाज नहीं करेंगे और पर्चा पर रेफर लिख कर बाईक पर सवार होकर भाग गये. रोगी की स्थिति बिगड़ते देख रोगी को उपचार हेतू मैं उसे सहरसा लेकर चला गया जहाँ अभी इलाज चल रहा है.
    इस बाबत आलमनगर थानाध्यक्ष ने बताया कि राधे राय के द्वारा आवेदन दिया गया है, जिसकी जांच करते हुए कारवाई की जायेगी.
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...