12 जून 2016

मधेपुरा में निर्वाचित महिला मुखिया को पुत्र समेत जान से मारने की धमकी

पंचायत चुनाव के दौरान पनपी वैमनस्यता का खामियाजा चुनाव के बाद अब जनता के वोट से जीते कुछ निर्वाचित जनप्रतिनिधि को भी भुगतना पड़ रहा है. मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर थानाक्षेत्र के इटहरी-गहुमनी पंचायत की नव-निर्वाचित मुखिया सुमित्रा देवी के दरवाजे पहुंचकर हथियारबंद अपराधियों के द्वारा उन्हें पुत्र समेत जान से मार देने की धमकी देने का एक मामला सामने आया है.
    मिली जानकारी के अनुसार घटना बीती रात 2:00 बजे की है. पुलिस अधीक्षक के नाम लिखे आवेदन में नव-निर्वाचित मुखिया सुमित्रा देवी के पुत्र नरोत्तम कुमार उर्फ़ पिंटू यादव ने घटना की जानकारी देते हुए कहा है कि 12 जून की रात के करीब 02:00 AM को उनके गहुमनी स्थित घर के दरवाजे पर दो बिना नंबर के टीवीएस अपाचे मोटरसायकिल से पांच अज्ञात अपराधी आये और दरवाजे पर सो रहे ग्रामीण मनोज यादव और सदानंद यादव को हथियार का भय दिखाकर उनसे उनके यानि पिंटू यादव के बारे में पूछा. उनलोगों के यह बताने पर कि पिंटू यादव मेहमानी गए हैं, पर सभी अपराधी यह कहते मोटरसाइकिल से उत्तर दिशा की ओर तेजी से चले गए कि पिंटू और उसकी माँ को हम नहीं छोड़ेंगे और जान से मार देंगे. इसके बाद घटना की सूचना घर के लोगों को जगा कर दी गई. मामले की जानकारी आज स्थानीय थाना को भी दी गई.
   जिले में क़ानून-व्यवस्था के बिगड़ते हालात के बीच पंचायत चुनाव भले ही समाप्त होने की घोषणा कर दी गई हो, पर शायद जिले को अभी चुनाव से ही जुड़ी कई आपराधिक घटनाओं को देखना बाकी लगता है. ऐसे में पुलिस की सक्रियता ही निर्वाचित जन प्रतिनिधियों को काफी हद तक सुरक्षा प्रदान कर सकती है.
(नि.सं.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...