15 जून 2016

BNMU के खिलाफ छात्र संगठनों का गुस्सा उबाल पर, NSUI और AISF का प्रदर्शन

भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा की कुव्यवस्था के खिलाफ आज फिर छात्रों का गुस्सा उबाल पर दिखा. एक तरफ जहाँ NSUI के सदस्यों ने यूनिवर्सिटी में जमकर हंगामा किया वहीँ AISF ने भी कुलपति के खिलाफ प्रदर्शन किया और पुतला दहन कार्यक्रम आयोजित किया.
    बीएनएमयू परिसर आज फिर दिन भर छात्र आन्दोलनों की गिरफ्त में रहा और नेशनल स्टूडेंट्स युनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) के बैनर तले छात्रों ने आन्दोलन करते हुए बताया कि ये मंडल यूनिवर्सिटी का अस्तित्व बचाने की लड़ाई है. एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव मनीष कुमार ने कहा कि मंडल विश्वविद्यालय में छात्र हित में कुछ भी सही नहीं हो रहा है. यहाँ चार हजार रूपये में 70% अंक की गारंटी दी जाती है.
    आज प्रदर्शन के दौरान एनएसयूआई के छात्रों ने प्रॉक्टर डॉ. बी. एन. विवेका पर आरोप लगाते कहा कि उन्होंने हम छात्रों से कहा कि यहाँ के नियम-कायदे में यदि पढना है तो पढ़ो नहीं तो पूर्णियां में विश्वविद्यालय खुल रहा है वहीँ जाकर नाम लिखा लो. प्रदेश महासचिव मनीष कुमार ने कहा कि इनका बयान छात्रों की मर्यादा के खिलाफ है और हम इनके खिलाफ कोर्ट भी जा सकते हैं.
    वहीँ दूसरी तरफ ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन (एआईएसएफ) के छात्रों ने आज विश्वविद्यालय के गेट को जामकर पुतला दहन किया. एआईएसएफ नेता हर्ष वर्धन सिंह राठौर ने कहा कि विश्वविद्यालय में लगातार अराजकता और छात्रों के शोषण के खिलाफ हम एक बड़े आन्दोलन का आगाज कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि यहाँ अरबों रूपये का बजट पास हो जाता है और छात्र हित की अनदेखी कर दी जाती है. उन्होंने कहा कि सिंडिकेट के सदस्यों ने कुलपति की दलाली करते हुए बिल को बिना जांचे पास कर दिया. हम इन मुद्दों के खिलाफ क्रमबद्ध आन्दोलन करने जा रहे हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...