24 जून 2016

ये है शातिर चोर संजय दास, 18 बार जा चुका है जेल

अक्सर लोग कहते हैं, ‘जब जेल जाओगे और चक्की पीसनी पड़ेगी तो होश ठंढा हो जाएगा’. पर मधेपुरा के एक चोर के होश 18 बार जेल जाने के बाद भी ठंढे नहीं पड़े हैं .और जहाँ तक चक्की पीसने वाली बात है तो यह चोर मसाला पीसने में भी माहिर है और जेल के अन्दर भी खाना बनाने के लिए ये मसाला पीसने में उस्ताद माना जाता है. मसाला पीसते संजय के हाथ पत्थर से कड़े हो गए हैं.
    मधेपुरा जिले के ग्वालपाड़ा के रेशना का रहने वाला संजय दास कब एक शातिर चोर बन गया इसका पता उसे भी नहीं चला. छोटी-छोटी चोरियां करते संजय दास सेंधमारी और पॉकेटमारी करते मधेपुरा औए सहरसा के इलाके में शातिर चोर के नाम से कुख्यात हो गया. संजय कहता है पेट की आग ने ही उससे सबकुछ कराया और अब तो जेल जाने से भी उसे डर नहीं लगता. इससे पहले संजय 18 बार जेल की हवा खा चुका है और आज 19वें बार की तैयारी उस समय हो गई गई जब संजय एक झोले में कहीं से चार बोतल देशी शराब लेकर मधेपुरा के बस स्टैंड के पास था. पुलिस को कहीं से इसके शराब के साथ होने की सूचना मिली और मधेपुरा थानाध्यक्ष मनीष कुमार के निर्देश पर एसआई राजेश चौधरी तथा अन्य पुलिस बल ने संजय दास को गिरफ्तार कर लिया.
    जो भी हो, संजय की चोरी की लत अब शायद ही छूट सके और संभव है इस शातिर चोर का जिले में सबसे अधिक बार जेल जाने के रिकॉर्ड भी बन रहा हो.
(नि.सं.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...