07 जून 2016

‘गम्हरिया मामले में मुझ पर लगाए आरोप मिथ्या, करा लें सीबीआई जांच’: आपदा मंत्री

मधेपुरा जिले के गम्हरिया में हुऐ पंचायती राज चुनाव के मतगणना और बज्रगृह में हुऐ मतपत्रों के हेराफेरी के विरोध में प्रखंड के आक्रोशित लोगों ने आज भी धरना दिया. पुलिस ने भी अपनी निजी दुश्मनी निकालने का अच्छा अवसर देख पूर्व में ही एक घटना में एक मुखिया प्रत्याशी के दवाब मे एक मामले में एक पत्रकार को घसीटने का काम किया था और सूत्र बताते हैं कि आज पुलिस के आला अधिकारियों के सामने ही उसी रंजिश के कारण उस पत्रकार डिक्शन राज की जम कर पिटाई कर दी और उससे मन नही भरा तो उसके दुकान में भी जम कर तोड़-फोड़ किया.
     इन घटनाओं के बाद लोगो का आक्रोश और बढा जिसे सँभालने के लिये पुलिस को अश्रु गैस के गोले छोडने पडे. हालांकि मामले में आईजी दरभंगा सुधांशु कुमार ने गम्हरिया के निरंकुश दरोगा को लाईन हाजिर कर दिया है.
        उधर मतपत्रों के हेराफेरी मे नाम आने पर राज्य सरकार के आपदा मंत्री प्रो. चंद्रशेखर यादव ने मधेपुरा टाइम्स को भेजे प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि पूरे बिहार में पंचायत चुनाव और मतगणना निष्पक्ष और भय मुक्त हुआ है. सांसद पप्पू का नाम लिये बिना इशारे ही इशारे में कहा कि कुछ लोग सरकार को बदनाम करने के लिए हंगामा करवा रहे हैं. उन्होंने ने चेतावनी देते हुए कहा मामले की जांच सीबीआई से करा ले ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो जाय. उन्होंने कहा कि कुछ हारे हुए प्रत्याशी ने अलोकतांत्रिक तरीके से कानून हाथ में लेकर सीओ के साथ मारपीट की और एएसपी को घंटो बंधक बना कर रखा. बिहार विधानसभा चुनाव में जनता ने हमे 39 हजार मतो से विजय बनाया था. कुछ लोग पार्टी में रह कर भाजपा एवं एनडीए के लिए काम करते हैं, जिसके कारण जनता चुन चुन कर पंचायत चुनाव में उन लोगों को सबक सिखा रही हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...