21 जून 2016

योग भगाए रोग: मधेपुरा में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर जहाँ देश-दुनियां में योग के महत्त्व पर एक बार फिर से चर्चा होते हुए कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं वहीँ मधेपुरा जिले में भी आज योग दिवस मनाया गया. जिले के प्रखंड कार्यालय चौसा के शिव मंदिर परिसर में सामाजिक शैक्षणिक कल्याण संघ, पतंजलि योग पीठ और गायत्री परिवार के संयुक्त बैनर तले योग शिविर का आयोजन किया गया. जिसका उद्घाटन प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश बिहारी वर्मा ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया.                          
        उद्घाटन के बाद उन्होंने कहा कि आज के समय में लोगों का जीवन काफी व्यस्त हो गया है. खान पान से लेकर हवा तक प्रदूषित हो गयी है और इसमें लोग बीमारी से ग्रस्त होते जा रहे हैं. इसके लिए योग का नियम काफी कारगर साबित हो रहा है. हमसब विश्वयोग दिवस मनाने जा रहे हैं. इसमें नियमित योग अभ्यास ना केवल लोगों को चुस्त-दुरुस्त रखता है बल्कि नैतिक साहस भी बढ़ाता है.
     योगाचार्य अवधेश कुमार मंडल ने कहा कि तीस मिनट का आसन, बीस मिनट का प्राणायाम, पांच मिनट का ध्यान और पांच मिनट की सूक्ष्म क्रिया का अभ्यास करने से डॉक्टर के पास जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी. योग महज व्यायाम नहीं है बल्कि यह आत्मा से परमात्मा को जोड़ने की विधि है. उन्होंने कहा कि इसे प्राकृतिक परिवेश में करने से आधिक लाभ मिलता है. प्राणायम के माध्यम से 70 फीसद वायु अंदर ली जाती है. कपालभात्ति, अनुलोम-विलोम, नारी शोधन और अग्निसार ऐसे प्राणायाम रक्त संचार ठीक होता है और इससे मोटापा नहीं बढ़ता है.
   योग का लगातार 16 वर्षों से अभ्यास करने वाले गोपाल साह बताते हैं कि यह महज व्यायाम नहीं है. इसलिए इसे नियमपूर्वक और योगाचार्य के निरीक्षण में करना जरुरी है. इसके लगातार अभ्यास से कई बीमारियों से निजात मिल सकती है और नैतिक बल भी बढ़ता है.
       योग शिविर में संघ के सचिव संजय कुमार सुमन, प्रमोद प्रियदर्शी, उपेंद्र भगत, जवाहर चौधरी, नित्यानंद गुप्ता, देवांशु कुमार देव, आशीष कुमार समेत दर्जनों  लोग उपस्थित थे.
    उधर जिले में अन्य कई संगठनों के द्वारा भी योग दिवस मनाये जाने के समाचार हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...