12 मई 2016

मधेपुरा के चौसा में शराब का जखीरा बरामद: शराबबंदी में भी इतनी बड़ी मात्रा में शराब मिलने से लोगों में तरह-तरह की चर्चा

मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड में जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक हो रही है, प्रत्याशी और समर्थक मतदाताओं को लुभाने के लिए तरह-तरह के फॉर्मूले अपना रहे हैं. और उनमें सबसे असरदार फॉर्मूला माना जा रहा है शराब, जिस पर बिहार सरकार ने पूर्णतः प्रतिबंध लगा दिया है.
     गुप्त सूचना के आधार पर चौसा पुलिस को  भारी मात्रा में शराब तथा शराब तस्करों को पकड़ने में सफलता मिली है. रात्रि 2 बजे चौसा-रूपौली मार्ग पर एक ऑटो के द्वारा लाये जा रहे जब्त देशी शराब की मात्रा काफी अधिक है. इनमें 24 कार्टून (24×24=576पीस) देशी और 93 बोतल विदेशी शराब शामिल हैं. शराब के जखीरा के साथ तीन व्यक्ति गिरफ्तार कर लिए गए हैं.
     बताया जाता है कि गिरफ्तार मुंसित कुमार, दिलखुश कुमार और पंकज कुमार तीनों चौसा थाना के पैना निवासी हैं. यह भी जानकारी दी गई कि कदवा से टैम्पू पर शराब लोड कर अरजपुर के रास्ते पैना जा ही रहा था कि गुप्त सूचना पुलिस को मिली और तीनों को रंगे हाथ पकड़े गए.
   शराब किसका है और किसने लोड कराया, यह अब तक रहस्य बना हुआ है. अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रहमत अली ने बताया कि पुलिस तीनों व्यक्ति से पूछ ताछ कर रही और जरूरत पड़ी तो संदिग्ध ठिकानों पर छापामारी भी की जायेगी. इस पर अभी विशेष कुछ नही कहा जा सकता है पर सूत्रों का तो यही मानना है कि यह शराब चुनाव में ही मतदाता को लुभाने के लिए जा रहा था.
     इतनी ज्यादा मात्रा में शराब के खेप पकडाने से लोगों के मन में संदेह उत्पन्न होने लगा है कि इतनी कडाई के बाद भी शराब माफिया लगातार सक्रिय हैं.
     सवाल उठना लाजिमी है कि इतनी कडाई के बाद भी चौसा थाना क्षेत्र में बगल के जिले से शराब की बड़ी-बड़ी खेप चौसा पहुँच रही है. सूत्र यह भी बताते है कि चौसा थाना क्षेत्र में चोरी-छिपे शराब की काफी बिक्री हो रही है, वहीं ताड़ी लोगों के सर चढ़ कर बोलने लगा है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...