08 मई 2016

मधेपुरा का 35वां जिला स्थापना दिवस कल 9 मई को: कार्यक्रमों की भरमार

मधेपुरा जिले का स्थापना दिवस कल यानि 09 मई को जिले भर में धूमधाम से मनाया जा रहा है. इस अवसर पर जिला प्रशासन की तरफ से आयोजित किये जा रहे कई कार्यक्रम बेहद उम्दा किस्म के होंगे. मधेपुरा प्रशासन ने जिला स्थापना दिवस को धूमधाम से मनाने की पूरी तैयारी कर ली है.
    जिला प्रशासन द्वारा सुबह सात बजे जहाँ विद्यालयों द्वारा नशामुक्ति की तख्ती के साथ प्रभात फेरी निकाली जायेगी. सुबह आठ बजे विश्वविद्यालय से स्टेडियम तक विकास दौड़, फिर खेल का उद्घाटन, वृक्षारोपण, पुलिस लाइन में खेलकूद का आयोजन आदि कार्यक्रम जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में होंगे. स्थापना दिवस पर दिन के साढ़े दस बजे सदर अस्पताल मधेपुरा में इच्छुक व्यक्तियों द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा.
    संध्या के छ: बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रम जिला मुख्यालय के बी.एन. मंडल स्टेडियम में आयोजित होंगे जिसकी शुरुआत गायिका शशिप्रभा के गीत से होकर इसमें विभिन्न स्कूल तथा कई अन्य संस्थाओं की रंगारंग प्रस्तुति देखने का अवसर जिले के लोगों को प्राप्त होगा.
   
    बता दें कि 9 मई 1981 को मधेपुरा एक जिला के रूप में सहरसा से अलग हुआ और मधेपुरा तथा उदाकिशुनगंज अनुमंडल को मिलाकर एक जिले का रूप इसे दिया गया. इससे पूर्व 1 अप्रैल 1954 को  सहरसा भागलपुर जिला से अलग होकर जिला बना था, वैसे मधेपुरा 3 सितम्बर 1945 से ही भागलपुर जिला के अंतर्गत सब-डिवीजन के रूप में था. वर्तमान मधेपुरा 09 मई 1845 को सब-डिवीजन (अनुमंडल) के रूप में अस्तित्व में आया. उस समय सहरसा जो आज जिला है, मधेपुरा का रेवन्यू सर्किल था. जब सहरसा 01 अप्रैल 1954 को जिला बना तो मधेपुरा सहरसा जिले के अंतर्गत एक अनुमंडल था. 09 मई 1981 को मधेपुरा जिला बना तो उस समय मधेपुरा जिला के अंतर्गत सात ही प्रखंड थे.
(नि.सं.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...